Home क्राइम फिल्म “दृश्यम” देखकर रची गयी थी कांग्रेसी नेत्री की हत्या की साजिश,...

फिल्म “दृश्यम” देखकर रची गयी थी कांग्रेसी नेत्री की हत्या की साजिश, 2 साल बाद हुआ खुलासा, बीजेपी नेता ने हत्या कर नाले में बहा दिए थे अवशेष

6
फिल्म दृश्यम देखकर रची गयी थी कांग्रेसी नेत्री की हत्या की साजिश, 2 साल बाद हुआ खुलासा, बीजेपी नेता ने हत्या कर नाले में बहा दिए थे अवशेष

इंदौर . दो साल से लापता कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे की मैंने ही हत्या कर दी थी। उसका अपहरण किया और घर ले जाकर मार डाला। बाद में टिगरिया बादशाह इलाके में शव ले जाकर जला दिया। यह खुलासा भाजपा नेता जगदीश करोतिया के बेटे व पूर्व एल्डरमैन अजय ने पुलिस के सामने किया।

अजय ने बताया कि उसने ट्विंकल से मंदिर में प्रेम विवाह किया था, लेकिन पिता उसे चरित्रहीन मानते थे। हालांकि पुलिस ने आधिकारिक खुलासा नहीं किया है, लेकिन जगदीश, उसके तीनों बेटे अजय, विजय, विनय और एक अन्य के खिलाफ हत्या का केस कर लिया है।

वहीं, इस मामले में तीन निगम कर्मचारियों की भी तलाश की जा रही है। एक कांस्टेबल की भूमिका पर भी संदेह है। हाई कोर्ट ने पुलिस को फटकार लगाते हुए तीन महीने में ट्विंकल को पेश करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद पुलिस ने जांच की तो पता चला कि ट्विंकल जिस दिन घर से लापता हुई थी, उस दिन उसका मोबाइल 12.5 बजे बंद हो गया था। वहीं, जगदीश के नौकर लखन व बंटी से पूछताछ की तो उन्होंने उसकी हत्या की बात कही थी। इसके बाद अजय से सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया।

नाश्ता लेने जा रही थी, तभी कर लिया था अपहरण, रात में कर दी हत्या :

अजय ने पुलिस को बताया कि 16 अक्टूबर 2016 को ट्विंकल घर से नाश्ता लेने जा रही थी। तभी उसका अपहरण कर घर ले गए और रात में उसकी हत्या कर दी। अगले दिन सुबह उसका शव कार में रखकर टिगरिया बादशाह इलाके में अगरबत्ती फैक्टरी के पास ले जाकर जला दिया था।

अजय ने पुलिस को बताया कि वह और पिता जब शव जला रहे थे तो फैक्टरी के एक चौकीदार ने उन्हें देख लिया था। तब पिता ने उसे यह बोलकर भगा दिया था कि कुत्ता मर गया है, उसे जला रहे हैं। इस पर चौकीदार चला गया था। फिर नगर निगम के तीन कर्मचारियों से जले हुए स्थान पर कचरा डलवा दिया था। इसके बाद आग भी लगा दी थी।

बाद में जले हुए कचरे को नाले में बहा दिया गया। उसमें ट्विंकल के शव के टुकड़े और अवशेष भी बह गए थे। वहीं, हत्या की बात मेरी मां को पता चली थी तो वह बेहोश हो गई थी। बाद में उसे उज्जैन के किसी अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया था।

भाजपा की सरकार जाते ही जांच तेज :

पुलिस अधिकारी मानते हैं कि भाजपा सरकार होने से जांच प्रभावित हो रही थी। कांग्रेस सरकार बनते ही जांच तेज हुई और पुलिस अजय को थाने ले जा सकी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
फिल्म "दृश्यम" देखकर रची गयी थी कांग्रेसी नेत्री की हत्या की साजिश, 2 साल बाद हुआ खुलासा, बीजेपी नेता ने हत्या कर नाले में बहा दिए थे अवशेष
Author Rating
51star1star1star1star1star