Home राज्य छत्तीसगढ़ राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल हुए कई यूनियन, उत्पादन पर नहीं दिखा असर...

राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल हुए कई यूनियन, उत्पादन पर नहीं दिखा असर लेकिन नगरीय निकाय क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था हुई ठप्प

2
राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल हुए कई यूनियन

भिलाई । केंद्रीय ट्रेड यूनियन के आव्हान पर आज 12 सूत्रीय मांगों को लेकर भिलाई इस्पात संयंत्र के सभी सात प्रवेशद्वार में चार यूनियन सीटू, एटक, एचएमएस एवं इंटक का प्रदर्शन जारी है। प्रबंधन ने दो दिवसीय हड़ताल को देखते हुए प्रथम पाली के कर्मचारियों को रात में ही काम पर बुला लिया था। वहीं कल द्वितीय पाली के कर्मियों को लौटने ही नहीं दिया।

आज सुबह प्रथम पाली में जा रहे बीएसपी कर्मचारियों को गेट पर रोका गया। दूसरी ओर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय पांडेय ने बताया कि शांतिपूर्ण ढंग से यूनियन की हड़ताल जारी है। कानून व्यवस्था को लेकर परेशानी नहीं है। भिलाई क्षेत्र के दो निगम में भिलाई, चरोदा तथा कुम्हारी के पालिका में जनवादी सफाई कामगार यूनियन द्वारा राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल होते हुए 16 सूत्रीय मांगों को लेकर अधिकार यात्रा निकाली गई तथा ज्ञापन नगरीय निकाय के प्रमुख आयुक्त एवं सीएमओ को सौंपा गया। हड़ताल के कारण शहर के नगरीय निकायों में साफ-सफाई का कार्य प्रभावित रहा।

8 एवं 9 जनवरी को राष्ट्रीय हड़ताल किए जाने की घोषणा

गौरतलब हो कि 12 सूत्रीय मांगों को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियन के आव्हान पर 8 एवं 9 जनवरी को राष्ट्रीय हड़ताल किए जाने की घोषणा की थी। इसमें सभी यूनियनों को शामिल होना था। परंतु बीएमएस, इस्पात श्रमिक मंच, छत्तीसगढ़ मजदूर संघ, बीएसपी वर्कर्स यूनियन, डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन तथा अन्य यूनियन ने अपने आपको इस हड़ताल से दूर कर लिया। ये सभी यूनियन हड़ताल में शामिल नहीं है।

आज सुबह से ही हड़ताल में शामिल यूनियन कार्यकर्ताओं में प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बीएसपी के खुर्सीपार गेट में भिलाई हिंद मजदूर सभा, एचएमएस, इस्पात भवन मेनगेट पर एटक, बोरिया गेट में हिन्दुस्तान स्टील एम्पालइज यूनियन सीटू, मरोदा गेट पर एक्टू व स्टील वर्कर्स यूनियन और जोरातराई गेट पर सीटू द्वारा प्रदर्शन किया गया। जो बीएसपी कर्मी जा रहे थे। उन्हें यूनियन के कार्यकर्ताओं ने रोकने के प्रयास किया। जिसके कारण दोनों ही पक्षों में हंगामा होता रहा।

बता दें कि हड़ताल का असर बीएसपी के उत्पादन पर नहीं दिखा। वहीं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय पांडेय ने बताया कि कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के दृष्टिकोण से समुचित व्यवस्था की गई है। दोपहर तक कोई वाद-विवाद की स्थिति नहीं थीं।

बीएसपी कर्मियों का 12 सूत्रीय मांग पत्र

वेतन समझौता वार्ता तत्काल हो, पेंशन योजना तत्काल लागू किया जाए, वेतन वार्ता पर लगी संधारणीयता शर्त को वापस लिया गया। मंहगाई पर रोक लगाई जाए, सार्वजनिक वितरण प्रणाली लागू किया जाए। केंद्र सरकार, राज्य सरकार एवं सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की बिक्री, विनिवेशीकरण पर रोक लगाया जाए। रोजगार उत्पन्न करने के लिए समुचित कदम उठाया जाए।

कर्मचारियों के अधिकारों के लिए श्रम कानूनों का कड़ाई से पालन किया जाए, उल्लंघन पर सजा हो। सभी प्रकार के मजदूरों को सामाजिक सुरक्षा लाभ दिया जाए। न्यूनतम वेतन 18 हजार प्रतिमाह किया जाए, इसे अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक से जोड़ा जाए, न्यूनतम पेंशन 6 हजार प्रतिमाह मिले। सामान कार्य के लिए समान वेतन और स्थाई कार्य के लिए स्थाई भर्ती नीति लागू हो, संविदा भर्ती, ठेकाकरण पर रोक लगाया जाए।

ईएसआई, भविष्य निधि, वार्षिक बोनस, ग्रेच्युटी पर सभी सीमाएं हटाया जाए। अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन के 87वें एवं 98 वें कन्वेंशन के अनुसार ट्रेड यूनियनों द्वारा आवेदन देने के 45 दिन के भीतर पंजीयन सुनिश्चित हो। श्रमिकों कर्मचारियों को गुलाम बनाने की दिशा में की जा रही श्रम कानून संशोधन वापस लिया जाए। बैंक, बीमा एवं प्रतिरक्षा के क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश पर रोक लगाया जाए।

जनवादी सफाई कामगारों ने निकाली अधिकार यात्रा

जनवादी सफाई कामगार संघ भी 16 सूत्रीय मांगों को लेकर इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल हुआ। संघ के कार्यकारी अध्यक्ष जयप्रकाश नायर ने बताया कि भिलाई नगर निगम क्षेत्र में निगम मुख्यालय से लेकर घड़ी चौक तक अधिकार यात्रा निकाली गई। इस यात्रा में सभी सफाई कर्मचारी शामिल हुए। जिसके चलते निगम क्षेत्र सभी 6 जोन में साफ-सफाई कार्य बंद रहा। कल भी निगम क्षेत्र में सफाई अभियान नहीं चलाया जाएगा।

संघ के महासचिव मनोज कोसरे ने बताया कि निगम भिलाई-चरोदा क्षेत्र में अधिकार यात्रा कन्या स्कूल से लेकर निगम मुख्यालय तक निकाली गई। इसके बाद आयुक्त को मांग पत्र सौंपा गया। कुम्हारी नगर पालिका क्षेत्र में अधिकार यात्रा गांजी हाउस से लेकर पालिका मुख्यालय कुम्हारी तक निकाली गई।

तीनों ही नगरीय निकाय क्षेत्र में सफाई कर्मचारियों द्वारा निकाली गई अधिकार यात्रा में नगरीय निकाय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया गया। सभी सफाई कर्मचारियों के हड़ताल में रहने के कारण तीनों ही नगरीय निकाय क्षेत्रों में सफाई कार्य ठप्प रहा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल हुए कई यूनियन, उत्पादन पर नहीं दिखा असर लेकिन नगरीय निकाय क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था हुई ठप्प
Author Rating
51star1star1star1star1star