Home देश भारत में जन्मे अभिजीत बनर्जी को इकोनॉमिक्स का नोबेल, भारतीय अर्थव्यवस्था पर...

भारत में जन्मे अभिजीत बनर्जी को इकोनॉमिक्स का नोबेल, भारतीय अर्थव्यवस्था पर ये कहा

35
अभिजीत बनर्जी

ओस्लो। भारत में जन्मे और मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) में प्रोफेसर अभिजीत बनर्जी (58) को 2019 के अर्थशास्त्र के नोबेल के लिए चुना गया है। उनके साथ एमआईटी में ही प्रोफेसर अभिजीत की पत्नी एस्थर डुफ्लो (47) और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर माइकल क्रेमर (54) को भी इस सम्मान के लिए चुना गया है।

21 साल बाद किसी भारतवंशी को अर्थशास्त्र के नोबेल के लिए चुना गया। अभिजीत से पहले हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर अमर्त्य सेन को 1998 में यह सम्मान दिया गया था। अभिजीत, एस्थर और माइकल क्रेमर को वैश्विक गरीबी कम किए जाने के प्रयासों के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल दिया जाएगा।

अभिजीत ब्यूरो ऑफ द रिसर्च इन इकोनॉमिक एनालिसिस ऑफ डेवलपमेंट के पूर्व प्रेसिडेंट हैं। वे सेंटर फॉर इकोनॉमिक एंड पॉलिसी रिसर्च के फेलो और अमेरिकन एकेडमी ऑफ आर्ट्स-साइंसेज एंड द इकोनॉमिक्स सोसाइटी के फेलो भी रह चुके हैं। अमर्त्य सेन को कल्याणकारी अर्थशास्त्र के लिए नोबेल से सम्मानित किया गया था। उन्हें 1999 में भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया।

बनर्जी ने नोबेल पुरस्कार जीतने के बाद मीडिया से बात करते हुए अपने बयान में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था इस समय डांवाडोल है। आर्थिक विकास के हालिया डाटा को देखकर निकट भविष्य में सुधार की उम्मीद कम है। पिछले पांच-छह साल में विकास के कुछ संकेत दिख रहे थे, लेकिन अब वह भरोसा भी नहीं रहा।