Home राज्य छत्तीसगढ़ प्रदेश में 1 करोड़ 81 लाख 52 हजार 143 मतदाता, मतदाताओं की...

प्रदेश में 1 करोड़ 81 लाख 52 हजार 143 मतदाता, मतदाताओं की फाइनल सूची 27 सितंबर को

133
प्रदेश में 1 करोड़ 81 लाख 52 हजार 143 मतदाता, मतदाताओं की फाइनल सूची 27 सितंबर को

रायपुर। आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग जोर-शोर से तैयारियों में जुटा हुआ है। 1 जनवरी 2018 की स्थिति में राज्य में कुल 1 करोड़ 81 लाख 52 हजार 143 मतदाता है। इनमें पुरूष मतदाता 91 लाख 34 हजार 816, महिला मतदाता 90 लाख 16 हजार 517 एवं थर्ड जेंडर मतदाता 810 है। इसके अलावा सर्विस मतदाता की संख्या 11607 एवं 3 ओवरसीज मतदाता है। यह जानकारी आज छग के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने निर्वाचन कार्यालय के कांफ्रेंस हॉल में प्रेसवार्ता में दी।
निर्वाचन पदाधिकारी श्री साहू ने बताया कि एक जनवरी 2018 की स्थिति में प्रदेश में कुल 1 करोड़ 81 लाख 52 हजार 143 मतदाता है। उन्होंने बताया कि बूथ लेवल अधिकारियों के द्वारा घर-घर सर्वे 15 मई 2018 से 20 जून 2018 तक की अवधि में किया गया। साथ ही राज्य के पांच विधानसभा क्षेत्रों भिलाई, सरगुजा, बस्तर, रायपुर पश्चिम एवं बिलासपुर में बीएलओ एप के माध्यम से ऑनलाईन घर-घर सर्वे का कार्य किया गया है। उन्होंने बताया कि 1 जनवरी 2019 की स्थिति में भविष्य मतदाताओं की जानकारी भी बीएलओ के द्वारा संकलित की गयी है जो लोकसभा निर्वाचन में सूची के अद्यतन किये जाने मेें सहायक होगी। अभी तक कुल 35 हजार 909 ऐसे मतदाताओं की पहचान की गयी है। उन्होंने बताया कि दिव्यांग, नि:शक्त मतदाताओं की पहचान घर-घर सर्वें के दौरान की जा रही है उनके दिव्यांगता के प्रकार को भी डेटाबेस में प्रविट किया जा रहा है। मतदाता सूची में पीडब्ल्यूडीएस मतदाताओं की संख्या के आधार पर मतदान केन्द्रों में सुविधायें सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने बताया कि पिछले तीन वर्षों में मृत मतदाताओं की जानकारी मृत्यु रजिस्ट्रेशन के द्वारा जिलों को दी जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि ऐसे मतदाताओं की संख्या जिनकी आयु 100 वर्ष से अधिक है का सत्यापन किया जा रह हैे। सत्यापन में कुछ की मृत्यु एवं कुछ की उम्र की गलत प्रविष्टि पाई गई है। 100 वर्ष से अधिक उम्र के मातादाताओं की संख्या वर्तामन में 3630 है।
श्री साहू ने बताया कि मतदाता सूची का द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण दिनांक 31 जुलाई से प्रारंभ होगा और 21 अगस्त 2018 तक चलेगा। उक्त अवधि के दौरान सभी मतदान केंद्रों में अभिहित अधिकारी के द्वारा दावा आपत्ति प्राप्त करने का कार्य किया जाएगा। मतदाता सूची के लिए प्राप्त दावे आपत्ति का निराकरण 20 सितंबर तक किया जाएगा दावा आपत्ति का निराकरण कर डाटा बेस के अपडेशन का कार्य 26 सितंबर तक पूर्ण किया जाएगा। मतदाता सूची अंतिम प्रकाशन 27 सिंतबर को किया जाएगा। इसी सूची के आधार पर विधानसभा का निर्वाचन होगा। आयोग के पोर्टल पर अब मतदाता सूची संबंधी सभी प्रारूपों में प्रासंगिक दस्तावेजों के साथ आनलाइन आवेदन करने की सुविधा भी उपलब्ध है। इस सुविधा का लाभ कभी भी लिया जा सकता है। 1 जनवरी 2018 की स्थिति में 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके नागरिक जिनका नाम सूची में नहीं है अपना नाम प्रारूप 6 के द्वारा मतदाता सूची में दर्ज करवा सकेंगे। इसी तरह स्थानांतरित मृत मतदाताओं के नाम प्रारूप 7 के द्वारा विलोपित किये जा सकेंगे। यदि किसी मतदाता की प्रविष्टि में कोई त्रुटि हो तो इसे वे प्रारूप 8 के द्वारा संशोधित करा सकते है।