Home बड़ी ख़बर उइगर मुस्लिमों के शोषण पर चीन को अमेरिका ने ब्लैकलिस्ट की चीन...

उइगर मुस्लिमों के शोषण पर चीन को अमेरिका ने ब्लैकलिस्ट की चीन की 28 कंपनियां

11
अमेरिका

वॉशिंगटन। चीन के शिनजियांग प्रांत में अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के शोषण की खबरों को गंभीरता से लेते हुए अमेरिका ने बड़ी कार्रवाई की है। अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने घोषणा की है कि वह चीन की 28 कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर रहा है। विभाग का कहना है कि शिंगजियांग क्षेत्र में उइगरों और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यकों को निशाना बनाकर इन कंपनियों ने उनके अधिकारों का उल्लंघन किया गया है और उनका शोषण किया है।

वाणिज्य सचिव विल्बर रॉस ने इस कदम की घोषणा की। यह प्रतिबंध अमेरिकी उत्पादों की खरीद से ब्लैकलिस्ट की गई कंपनियों को यह कहते हुए रोकती है कि संयुक्त राज्य अमेरिका चीन के भीतर जातीय अल्पसंख्यकों के क्रूर दमन को बर्दाश्त नहीं करता है और न ही करेगा।

प्रतिबंधित की गई कंपनियों में वीडियो सर्विलांस और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कंपनियां शामिल हैं। बुधवार को प्रकाशित होने जा रहे अमेरिकी फेडरल रजिस्टर के अपडेट के अनुसार, ब्लैकलिस्ट की गई फर्मों में वीडियो सर्विलांस कंपनी हिकविजन के साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कंपनियां मेगावी टेक्नोलॉजी और सेंसटाइम शामिल हैं।

अधिकार समूहों का कहना है कि चीन ने पश्चिमी शिनजियांग क्षेत्र के शिक्षा शिविरों में लगभग दस लाख उइगरों और अन्य मुसलमानों को हिरासत में लिया है। वाशिंगटन का कहना है कि यह कदम नाजी जर्मनी की याद दिलाता है। चीन शुरुआत में इन शिविरों के अस्तित्व से इनकार करता रहा था, लेकिन उसने अब दावा किया कि ये ’व्यावसायिक प्रशिक्षण स्कूल’ हैं, जो आतंकवाद को नियंत्रित करने के लिए जरूरी हैं। एजेंसी