Home राज्य छत्तीसगढ़ ट्रैकों की मरम्मत बनी आफत, अप और डाउन की 72 ट्रेनें कैंसल

ट्रैकों की मरम्मत बनी आफत, अप और डाउन की 72 ट्रेनें कैंसल

8
ट्रेनें कैंसल

रायपुर। ट्रैकों की मरम्मत का कार्य यात्रियों के लिए आफत साबित होने लगा है, क्योंकि अप और डाउन की 72 ट्रेनें रद हैं। इनमें से कुछ को समय-समय पर अलग-अलग रूट पर रद कर दिया गया है। वहीं करीब 32 ट्रेनों के रूट बदल दिए गए हैं।

इसमें सबसे अधिक दिल्ली रूट की ट्रेनों का है। ऐसे हालात में सीमित ट्रेनों के चलते कंफर्म टिकट के लिए मारामारी मची हुई है। मानसून की वजह से भी ट्रैकों की स्थिति पर फर्क पड़ा है, जिसे सुरक्षा के लिहाज से मरम्मत करने के लिए नॉन इंटरलाकिंग में ट्रेनों को विभिन्न दिवसों पर रद किया गया है।

इसके चलते एक ही दिन अन्य दिनों की भी लंबी दूरी तय करने वाले यात्रियों के सामने परेशानी खड़ी हो गई है। एक साथ इतनी संख्या में ट्रेनें रद कर दी गई हैं। ऐसे में बिलासपुर-रीवा एक्सप्रेस दुर्ग-बिलासपुर, दुर्ग-अंबिकापुर, बिलासपुर बीपीएल एक्सप्रेस, गोंदिया-इंटरसिटी ट्रेनों में अतिरिक्त कोच 30 दिसंबर तक के लिए बढ़ाए गए थे, लेकिन इसमें सिर्फ एक दिन की और बढ़ोतरी हो गई है।

ऐसे में जाहिर है कि इस रूट पर जाने वाले यात्रियों को भारी सुविधाएं मिलेगी। बता दें कि अभी तक सालभर में करीब 1702 अतिरिक्त कोच लगाए गए हैं। फिर भी स्थिति आउट ऑफ कंट्रोल है। टिकट के लिए मारामारी मची है।

बिलासपुर-रायपुर एवं दुर्ग-गोंदिया-कलमना रेल खंडों पर 31 सितंबर तक ये ट्रेनें रहेंगी रद

  • 20 सितंबर को डोगरगढ़-गोंदिया मेमू
  • 20 सितंबर को बिलासपुर से छूटने वाली बिलासपुर-रायपुर मेमू
  • 20 सितंबर को रायपुर से छूटने वाली रायपुर-डोगरगढ़ मेमू
  • 21 सितंबर को डोंगरगढ़ से छूटने वाली डोगरगढ़-रायपुर मेमू
  • 20 सितंबर को रायपुर से छूटने वाली रायपुर-दुर्ग मेमू

इसी खंड पर बीच में रद होने वाली ट्रेनें

  • 20 सितंबर रायपुर से छूटने वाली रायपुर-डोंगरगढ़ मेमू दुर्ग में
  • 21 सितंबर को गोंदिया से छूटने वाली गोंदिया-रायपुर मेमू दुर्ग में

सितंबर माह में इन दिन इतने घंटे नियंत्रित होने वाली ट्रेनें

  • 20 सितंबर को गेवरारोड से छूटने वाली गेवरारोड-बिलासपुर एक्सप्रेस को एक घंटा 45 मिनट घंटे नियंत्रित
  • 20 सितंबर को टाटानगर से छूटने वाली टाटानगर-इतवारी एक्सप्रेस को दो घंटा 25 मिनट घंटे नियंत्रित