Home बिज़नेस आपका चेहरा ही एयरपोर्ट पर होगा बोर्डिंग पास, यूं मिलेगी एंट्री

आपका चेहरा ही एयरपोर्ट पर होगा बोर्डिंग पास, यूं मिलेगी एंट्री

40
आपका चेहरा ही एयरपोर्ट पर होगा बोर्डिंग पास, यूं मिलेगी एंट्री

नई दिल्‍ली । हवाई यात्रा के दौरान बोर्डिंग पास लेने के लिए जल्द ही लंबी लाइनों से छुटकारा मिल जाएगा। अब आपको भारत के किसी भी शहर में यात्रा करने के लिए बोर्डिंग पास की जरूरत नहीं होगी। केंद्र सरकार पेपरलेस बॉयोमीट्रिक सेल्फ बोर्डिंग टेक्नोलॉजी की शुरुआत करने जा रही है। इस तकनीक से यात्रियों का चेहरा देखकर एयरपोर्ट पर एंट्री मिल सकेगी। सबसे पहले इसकी शुरुआत बेंगलुरू, दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद एयरपोर्ट पर होगी। इसके बाद वाराणसी, विजयवाड़ा, पुणे और कोलकाता एयरपोर्ट्स पर भी यह सुविधा मिलेगी।

ऐसे होगी पहचान
फेस रिकॉग्नाइजेशन तकनीक बॉयोमीट्रिक सॉफ्टवेयर पर काम करेगी। इसमें चेहरे के बॉयोमीट्रिक डिटेल के जरिए यात्रियों की पहचान होगी और वे बॉयोमीट्रिक डिटेलएयरपोर्ट पर आराम से जा सकेंगे। इसके लिए उन्हें बार-बार बोर्डिंग पास, पासपोर्ट या अन्य पहचान प्रमाण पत्र नहीं दिखाने पड़ेंगे।

रेलवे पहले से ही है पेपरलेस
भारतीय रेलवे पहला सरकारी उपक्रम बना जिसने अपना कामकाज पेपरलेस किया। अक्टूबर 2011 में आइआरसीटीसी (भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम) ने सुविधा देते हुए कहा कि यात्रियों को अपने साथ काउंटर टिकट रखना जरूरी नहीं होगा। लोग मोबाइल पर एसएमएस या ई-टिकट के जरिए यात्रा कर सकते हैं।

एशिया में चीन पहला देश
एशियाई देशों में एयरपोर्ट पर फेस रिकॉग्नाइजेशन तकनीक इस्तेमाल करने वाला पहला देश चीन है। वहीं जर्मनी इस तकनीक का इस्तेमाल ट्रेन स्टेशन पर आतंकियों की पहचान के लिए कर रहा है।

इन देशों में है ये तकनीक
अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, संयुक्त अरब अमीरात, जापान, चीन, जर्मनी, रूस, आयरलैंड, स्कॉटलैंड, स्विट्जरलैंड, फ्रांस, न्यूजीलैंड, फिनलैंड, हांगकांग, नीदरलैंड, सिंगापुर, रोमानिया, कतर, पनामा।