Home राज्य छत्तीसगढ़ एडीजी जीपी सिंह के ठिकानों से एसीबी की टीम लौटी, 10 करोड़...

एडीजी जीपी सिंह के ठिकानों से एसीबी की टीम लौटी, 10 करोड़ से ज्यादा बेनामी प्राॅपर्टी के सबूत मिले

74
एडीजी जीपी सिंह

रायपुर। एडीजी जीपी सिंह के रायपुर, राजनांदगांव, ओडिशा के 15 ठिकानों पर जारी एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) की कार्रवाई खत्म हो गई है। दावा है कि अवैध ढंग से कमाई गई 10 करोड़ की प्रॉपर्टी के सबूत मिले हैं। एजेंसी ने दो किलो सोने की पट्‌टी और 16 लाख रुपए नकद भी बरामद किए हैं। संपत्ति की गणना अभी भी जारी है।

एसीबी की ओर से बताया गया कि एक जुलाई की सुबह छह बजे से एडीजी जीपी सिंह के नेशनल हाईवे कॉलोनी स्थित सरकारी निवास के अलावा उनके सहयोगियों प्रीतपाल चण्डोक, मणि भूषण और सीए राजेश बाफना के रायपुर, राजनांदगांव व ओडिशा के बड़बील स्थित ग्लोबल एसोसिएट्स कंपनी के ठिकानों पर छापे की कार्रवाई शुरू हुई। भारतीय स्टेट बैंक की सेजबहार शाखा के प्रबंधक और जीपी सिंह के मित्र मणिभूषण के एसबीआई अपार्टमेंट स्थित घर की तलाशी में जीपी सिंह से जुड़े बैंक दस्तावेज के अलावा एक-एक किलोग्राम सोने की दो पट्टियां मिलीं। इसकी कीमत करीब एक करोड़ रुपए आंकी गई है।

एसबीआई के मैनेजर मणिभूषण ने पूछताछ में बताया, सोने की यह पट्‌टी कुछ दिन पहले ही जीपी सिंह ने कुछ समय तक संभालकर रखने को दी थी। प्रीतपाल सिंह चंडोक के घर की तलाशी के दौरान उनके बेडरूम से 13 लाख रुपए नकद बरामद हुए।

पूछताछ में पता चला कि यह रकम जीपी सिंह की है। 30 जून को आनन-फानन में इसे यहां रखवाया गया था। प्रीतपाल सिंह ने यह भी बताया, जीपी सिंह के पिता परमजीत सिंह ने कुछ वर्षों पूर्व उनको अपनी संपत्तियों के क्रय-विक्रय और रखरखाव के लिए पावर ऑफ अटॉर्नी भी दिया गया था। अभी वह कहां है यह प्रीतपाल ने नहीं बताया।