Home राज्य छत्तीसगढ़ प्रदेश में धान खरीदी के नए नियम के किसानों में नाराजगी, आंदोलन...

प्रदेश में धान खरीदी के नए नियम के किसानों में नाराजगी, आंदोलन की चेतावनी

87
धान खरीदी

आरंग। प्रदेश में धान खरीदी के नए नियम से कई जगह विरोध करते हुए किसानों ने नाराजगी जाहिर की है। आरंग के गांव गोईदा में सोमवार को बड़ी संख्या में किसान एकत्रित होकर किसानों ने कहा कि धान खरीदी केन्द्रों में आए दिन हो रहे नियमों में बदलाव से कृषक परेशान हो रहे हैं।

यहां किसानों ने मांग की है कि समितियों में क्षमता अनुसार धान तौल करने की मात्रा है उसे 33 फीसदी घटाकर तौल करने का निर्देश दिया गया है, उसे वापस लिया जाए साथ ही एक किसान के अधिकतम तीन टोकन काटने के निर्देश में बदलाव कर पांच बार किया जाए। अगर उनकी ये मांग पूरी नहीं हुई तो आक्रोशित किसानों ने चेतावनी दी है कि वो सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे।

शासन द्वारा समितियों के माध्यम से खरीदी की जा रही धान की दिन-प्रतिदिन बदलती व्यवस्था से किसानों में शासन-प्रशासन के प्रति काफी आक्रोश देखा जा रहा है। राज्य सरकार के किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ आक्रोशित किसानों ने चेतावनी दी है कि सरकार अगर ऐसी ही नित नए नियम बताएगी तो किसान सड़क पर उतर आएगे।

किसानों की मांग है कि समितियों में क्षमता अनुसार धान तौल करने की मात्रा है उसे 33 फीसदी घटाकर तौल करने का निर्देश दिया गया है सरकार उसे वापस ले. साथ ही एक किसान के अधिकतम तीन टोकन काटने का निर्देश जारी किया गया है, उसे पुनः 5 बार किया जाए।

एक महीने की देरी से धान की खरीदी प्रारंभ होने के बाद भी शासन की धान खरीदी नीति स्पष्ट नहीं हो पाने से किसान एवं समितियां परेशान है। प्रतिदिन बदलते नियम के कारण धान बिक्री के दौरान किसान एवं समिति कर्मचारियों के मध्य विवाद की स्थिति निर्मित हो रही है।