Home बस्तर संभाग कांकेर आरक्षण में कटौती से नाराज आदिवासी समाज ने मंत्री लखमा को प्रचार...

आरक्षण में कटौती से नाराज आदिवासी समाज ने मंत्री लखमा को प्रचार से रोका, नारेबाजी भी

55
आरक्षण में कटौती से नाराज आदिवासी समाज ने मंत्री लखमा को प्रचार से रोका, नारेबाजी भी

कांकेर। भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव में आरक्षण में कटौती का मामला तेजी से गरमा गया है। इस बीच, आज भानुप्रतापपुर के ग्राम पंचायत बोगर में मंत्री कवासी लखमा प्रचार करने पहुंचे। इस दौरान उन्हें आदिवासी समाज के विरोध का सामना करना पड़ा। कांग्रेस प्रत्याशी सावित्री मांडवी के समर्थन में प्रचार करने गए मंत्री को आदिवासियों ने प्रचार करने से रोक दिया।

इस दौरान आदिवासी समाज ने कहा कि आदिवासियों के अधिकार का विरोध करने वाला हमारा नेता हो ही नहीं सकता है। इसी बीच आदिवासियों ने मंत्री लखमा के सामने ही सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। इस दौरान समाज के लोगों की मंत्री लखमा के बीच बहस भी हुई। मालूम हो कि छत्‍तीसगढ़ में आदिवासियों का आरक्षण 12 प्रतिशत कम होने से आदिवासी संगठन नाराज हैं। बता दें कि आदिवासी समाज के आरक्षण में कटौती के विरोध में भाजपा नेता नंदकुमार साय धरने पर बैठ गए हैं।

आदिवासियों के आरक्षण में कटौती का विरोध करने के लिए आदिवासी समाज ने विधानसभा क्षेत्र की सभी 85 पंचायतों से एक-एक प्रत्याशी को मैदान में उतारने की योजना बनाई थी। 42 पंचायतों से एक एक अभ्यर्थी ने नामांकन पत्र भी खरीदा था। हालांकि सभी ने नामांकन दाखिल नहीं किया। बता दें कि समाज के प्रतिनिधियों में 15 का नामांकन सही दस्तावेजों के साथ जमा नहीं करने के खारिज हो गया। अब मैदान में सिर्फ सात प्रत्याशी है।