Home राज्य छत्तीसगढ़ बीजापुर-गंगालूर सड़क पर चढ़ रहा भ्रष्टाचार का डामर

बीजापुर-गंगालूर सड़क पर चढ़ रहा भ्रष्टाचार का डामर

34
बीजापुर

बीजापुर/दिनेश गुप्ता। बीजापुर से गंगालूर तक 25 किमी सड़क के चौड़ीकरण, कांक्रीट और डामरीकरण का काम एकदम कछुआ चाल से चल रहा है और वह भी अमानक। घटिया और लेटलतीफी वाले काम के लिए बीजापुर कलेक्टर केड़ी कुंजाम ने ईई, एसडीओ और एक सब इंजीनियर की तनख्वाह भी रोक दी गई है, लेकिन काम में गुणवत्ता मैं सुधार होता नहीं दिख रहा है।

बीजापुर से गंगालूर का काम पीएमजीएसवाय ने दंगल कंस्ट्रक्शन ठेका दिल्ली को दिया है। अक्टूबर 2017 में शुरू इस काम में ना गुणवत्ता और ना कोई तेजी दिख रही है। छह माह में इसकी मियाद खत्म हो जाएगी। काम की गति से नहीं लगता कि छह माह में गुणवत्ता का काम हो पाएगा, क्योंकि एक माह बाद बारिश शुरू हो जाएगी। हालांकि ईई पीएम साहू के अनुसार जल्द काम पूरा हो जाएगा।

बता दें कि 25 किमी लंबी इस सड़क का ठेका 44 करोड़ रूपए का है और ठेकेदार को 25 करोड़ रूपए का भुगतान कर दिया गया है। इसमें सड़क का चौड़ीकरण, सीसी और फिर डामरीकरण का काम होना है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सड़क निर्माण मैं जम कर भ्रष्टाचार हुआ है। हिरोली तक बाने वाले सड़क को गंगालूर तक सीमित कर दिया गया। सड़क निर्माण की लागत से अधिक की राशि का भी आहरण कर लिया गया है। ठेकेदार और अधिकारियों की मिली। हगत से 44 करोड़ की सड़क का अब तक 25 करोड़ का भुगतान हो चुका है।

ठेकेदार पर विभागीय अधिकारी बहुत मेहरबान दिखती नज़र आरही है। जांच के नाम पर सिर्फ खाना पूर्ति की जा रही है। गुणवत्ताहीन सड़क निर्माण के मामले को लेकर सरपंच मंगल राना समेत गांव के लोगों ने कलेक्टर केडी कुंजाम से शिकायत भी की थी।लेकिन सड़क निर्माण कार्य मैं कोई सुधार देखने को नही मिल रहा है।

छह माह में काम हो जाएगा पूरा

पीएमजीएसवाय के ईई पीएम साहू का दावा है कि छह माह में काम हो जाएगा। पुलों की घटिया हालत के बारे में उन्होंने कहा कि इन्हें ठीक ठाक करने निर्देश मिले हैं और तब तक उनके अलावा एसडीओ और सब इंजीनियर की तनख्वाह रोक दी गई है। ईई ने कहा कि काम की धीमी चाल सुरक्षा को लेकर भी है। नियमित रूप से फोर्स नहीं मिल पाती है ओैर बगैर सुरक्षा के काम नहीं किया जा सकता। पुलिस मना करती है।

सुरक्षा मांगेंगे तो मिलेगीः एसपी

बीजापुर एसपी गोवर्धन ठाकुर का कहना है सुरक्षा मैं कोई कमी नही है, लेकिन ठेकेदार सुरक्षा लेने को तैयार नही है। ठेकेदार सुरक्षा की मांग करते है तो उनको सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।

सड़क का घटिया हो रहा कामः सरपंच

इस बारे में गंगालूर के सरपंच मंगल राना का कहना कि शिकायत के बाद भी काम धीमा है और गुणवत्ताहीन किया जारहा है। सड़क मैं डामर की पतली परत डाली जारही है, जो गुणवत्ताहीन है। काम चलने के दौरान विभाग के कोई भी अधिकारी कर्मचारी काम देखने नही आते है। पुलों में गुणवत्ता नहीं है। सीसी सड़क कई स्थानों पर इसलिए उखड़ गई, क्योंकि क्यूरिंग ठीक से नहीं की गई और सीमेंट भी ठीक नहीं था। उन्होंने अफसरों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।