Home राज्य छत्तीसगढ़ बच्चे को सुधारने के लिए शिक्षक ने की पिटाई, चेहरे पर बन...

बच्चे को सुधारने के लिए शिक्षक ने की पिटाई, चेहरे पर बन गए चोट के निशान

110
बच्चे को सुधारने के लिए शिक्षक ने की पिटाई, चेहरे पर बन गए चोट के निशान

दिलीप जायसवाल
अंबिकापुर।
एक निजी स्कूल के शिक्षक का बेरहम चेहरा उजागर हुआ है। शिक्षक ने तीन साल के एक बच्चे की इस कदर पिटाई कर दी कि उसके चेहरे में चोट के निशान बन गए, जो 24 घंटे बाद भी नहीं मिट रहे हैं। हद तो यह है एक सप्ताह पहले इस शिक्षक ने एक दूसरे मासूम के साथ भी इसी तरह की बर्बरता दिखाई थी लेकिन पालक चुप रहे और उसका हौसला बढ़ गया। अब पालकों के बीच गुस्सा है और वे शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

राजपुर विकासखंड के कुंदीकला में संचालित एक निजी स्कूल में धंधापुर से अभय जायसवाल नामक तीन साल का मासूम नर्सरी कक्षा में करीब 20 दिनों से पढ़ने जा रहा था उसे शिक्षक और स्कूल के संचालक विनय जायसवाल ने इस कदर मारा कि चेहरे पर कई निशान बन गए। यह घटना 26 सितम्बर की बतायी जा रही है।

परिजनों के मुताबिक जब बच्चे को वैन में स्कूल के टीचर और वैन चालक घर छोड़ने आए तो चोट के बारे में पूछे जाने पर बताया कि बॉल खेलते समय चोट लग गयी है। वहीं स्कूल संचालक और टीचर विनय से जब परिजनों ने पूछा तो उसने बड़े ही बेरहम तरीके से कहा कि बच्चे को सुधारने के लिए ही उसने पिटाई की है।

जब इसकी तस्वीर परिजनों ने स्कूल के ग्रुप में शेयर किया तो बदौली के एक परिजन ने उन्हें बताया कि उनके बच्चे की भी इसी तरह पिटाई की गई थी। तब उन्होंने स्कूल के संचालक विनय को समझाया भी गया था। पर इसके बाद भी ऐसा हो रहा है तो डर है कि बेरहम पिटाई से बच्चों का कान या शरीर को कोई नुकसान ना पहुंचे।


इस घटना के बाद स्कूल संचालक के खिलाफ परिजनों में गुस्सा है और इसकी लिखित शिकायत कलेक्टर और शिक्षा विभाग के जिम्मेदारों से करने की तैयारी कर रहे हैं।