Home राज्य छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार की नरवा,गरवा,घुरवा, बाड़ी योजना ले रही मूर्त...

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार की नरवा,गरवा,घुरवा, बाड़ी योजना ले रही मूर्त रूप, ग्रामीण संस्कृति को पुनः व्यवस्थित करने का कार्य

48
ग्रामीण संस्कृति

शक्ति. छत्तीसगढ़ प्रदेश की कांग्रेसनीत भूपेश बघेल की सरकार ने पूरे प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में नरवा,गरवा, घुरुवा अऊ बाड़ी योजना के माध्यम से गांव में खाली पड़ी जमीनों पर गोठान निर्माण कर हमारे प्रदेश के पशुधन को व्यवस्थित करने का कार्य किया जा रहा है.

उक्ताशय की बातें छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के ऊर्जावान युवा नेता चोलेश्वर चंद्राकर ने जैजैपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम– तलवा में बन रहे गोठान निर्माण के निरीक्षण के दौरान कही,उल्लेखित हो की छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार द्वारा वृहत रूप से पूरे प्रदेश में यह योजना प्रारंभ की गई है जिसके अंतर्गत गांव में खाली पड़े जमीनों को चिन्हित कर उक्त योजना को अमलीजामा पहनाया जा रहा है एवं गोठान निर्माण से जहां गांव में पशुओं को एक ही जगह पर उन्हें सारी व्यवस्थाएं उपलब्ध करवाई जा सकेगी.

छत्तीसगढ़ सरकार का अमला भी इस योजना को क्रियान्वित करने में तत्परता से जुटा हुआ है, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के युवा नेता चोलेश्वर चंद्राकर भी इन दिनों पूरे प्रदेश में घूम घूम कर छत्तीसगढ़ सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना की मानिटरिंग कर उसे बेहतर ढंग से क्रियान्वित करने में जुटे हुए हैं, तथा जैजैपुर विकासखंड के तलवा में गठान निर्माण के दौरान मनरेगा की महिलाएं भी काफी संख्या में तपती दोपहरी के बावजूद इस कार्य में जुटी हुई है एवं ग्रामीणों में भी इस गोठान निर्माण से काफी उत्साह है.

ग्रामीणों का कहना है कि

पहली बार किसी सरकार ने गांव में गोठान की चिंता की है तथा गोठान को व्यवस्थित करने के लिए आवश्यक आर्थिक सहायता छत्तीसगढ़ की सरकार उपलब्ध करवा रही है, चोलेश्वर चंद्राकर ने कहा कि प्रदेश की सरकार ग्रामीण संस्कृति एवं ग्रामीण परिवेश को ध्यान में रखकर आने वाले समय में भी कार्य करेगी तथा प्रदेश का विकास छत्तीसगढ़ सरकार की पहली प्राथमिकता है एवं गांव में लोगों को सारी सुविधाएं मिले इसी को ध्यान में रखकर सरकार कार्य कर रही है