Home देश दिल्ली में भूपेश बोले – किसान और गरीबों की योजना को रेवड़ी...

दिल्ली में भूपेश बोले – किसान और गरीबों की योजना को रेवड़ी कहते हैं पीएम, खुद उद्योगपतियों को बांटते हैं ‘रबड़ी’

63
दिल्ली में भूपेश बोले - किसान और गरीबों की योजना को रेवड़ी कहते हैं पीएम, खुद उद्योगपतियों को बांटते हैं ‘रबड़ी’

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल आज दिल्ली में कांग्रेस के महंगाई के खिलाफ हल्लाबोल कार्यक्रम में जमकर गरजे। सीएम भूपेश बघेल ने इस दौरान पीएम मोदी द्वारा कथित ‘रेवड़ी कल्चर’ को निशाने पर लेकर जमकर हमला बोला। कांग्रेस की महंगाई रैली में भूपेश बघेल ने कहा कि सत्ता में बैठे लोगों का लक्ष्य राहुल गांधी को रोकना है। सीएम भूपेश बघेल ने पीएम मोदी से पूछा कि उद्योगपतियों के कर्जमाफी को रेवड़ी कहेंगे या रबड़ी ? वे किसान-गरीबों की योजना को रेवड़ी कहते हैं। बीजेपी नेता श्रम के सम्मान को रेवड़ी कहते हैं। सीएम भूपेश ने कहा कि मोदी सरकार ने उद्योगपतियों के 10 लाख करोड़ रुपए के कर्जमाफ़ किए ये रबड़ी है।

सीएम बघेल ने कहा कि जब हम राशन देते हैं तो वे रेवड़ी की श्रेणी में आता है, जब हम लघुवनोपज खरीदते हैं तो वे रेवड़ी की श्रेणी में आता है, कांग्रेस पार्टी हमेशा गरीबों मजदूरों किसानों के हक में लड़ाई लड़ती है तो सत्ता में बैठे लोग उसे रेवड़ी कहते हैं। केंद्र में जब कांग्रेस सरकार थी तब किसानों का 70 हजार करोड़ रुपए माफ किया गया। हम गरीबों के हक में फैसला करते हैं। सीएम ने कहा कि हम श्रम का सम्मान करने वाले लोग है और बीजेपी श्रम का अपमान करती है।

सीएम ने कहा कि मोदी सरकार उद्योगपतियों का कर्ज माफ करती हैं तब ये रेवड़ी नहीं है ये रबड़ी हैं, ये लोग कुछ गिने चुने बड़े उद्योगपतियों का 10 लाख करोड़ रुपए माफ करते हैं ये रबड़ी बॉटने का काम करते हैं।

सीएम भूपेश ने कहा कि राहुल गांधी ने जब जब रामलीला मैदान में हुंकार भरा है सरकार को अपना फैसला वापस लेना पडा है, कृषि के तीन काले कानून के खिलाफ हुंकार भरी थी, तब केंद्र को ये कानून वापस लेने पड़े थे, अब एक बार फिर से राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने रामलीला मैदान से महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ हुंकार भरी है जिसके बाद यह केंद्र सरकार महंगाई रोकने के लिए बाध्य होगी।