Home राज्य छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग- जनता जोगी कांग्रेस से पूर्व विधायक आर.के.राय बने कांकेर लोकसभा प्रभारी

ब्रेकिंग- जनता जोगी कांग्रेस से पूर्व विधायक आर.के.राय बने कांकेर लोकसभा प्रभारी

852
कांकेर लोकसभा प्रभारी

बालोद। रविवार को छतीसगढ़ जनता कांग्रेस(जे) स्वाभिमान बैठक गुंडरदेही विधानसभा मुख्यालय में प्रमुख कार्यकर्ता एवं पदाधिकारियों की मीटिंग रखी गई। जिसमें जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी द्वारा आगामी लोकसभा नगरी निकाय, ज़िला पंचायत, जनपद पंचायत, छात्र संघ चुनाव एवं पंचायत चुनाव प्रदेश के कुल 11 लोकसभा सीट के अलग-अलग प्रभारी नियुक्त किए गए है।

जिसमें कांकेर लोकसभा के प्रभारी पूर्व विधायक व प्रदेश अध्यक्ष आदिवासी प्रकोष्ठ राजेन्द्र कुमार राय को बनाया गया है। कांकेर लोकसभा में कुल 8 विधानसभा है। गुंडरदेही, डौंडीलोहारा, बालोद, कांकेर, भानुप्रतापपुर कुल मिलाकर 6 विधानसभा जनजाति के लिए सरंक्षित सीट है। 2 सीट सामान्य है। पार्टी अध्यक्ष द्वारा पूरे प्रदेश में प्रत्येक विधानसभा में 10 मार्च से 19 मार्च तक स्वाभिमान बैठक कार्यकर्ता एवं आम जनता के बीच लिया जाना है।

बैठक में सर्व प्रथम प्रदेश में जनता कांग्रेस एवं बसपा से कुल 7 सीट जीत कर 14% यानि कि प्रदेश की जनता का 30 लाख वोट देकर आम जनता ने अपना विश्वास व्यक्त किया है। पार्टी के चुनाव चिन्ह हल चलाता किसान का निशान घरों घर कार्यकर्ताओं के माध्यम से पहुँचना है, एवं जिस घोषणा पत्र के माध्यम से सरकार सत्ता में आई है उस घोषणा में किसानो की पूर्ण क़र्ज़ माफी, पूर्ण शराब बंदी, 23 लाख बरोज़गारो को नौकरी और रेत खदान का अधिकार छीनकर प्रदेश के सीआईडीएस विभाग को सौप देना सरपंचों के अधिकारो का हनन करना हैं।

नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी की योजना लागु कर प्रदेश को 40 साल पीछे धकेलना, गावों में नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी कुछ भी नही बचा है। लोग अंतरिक्ष में जाने का सोच रहे है लेकिन ये सरकार पीछे कर रही है। राज्य में वित्तीय संकट क़र्ज़ का बोझ के चलते सारे विकास कार्य रोका गया है। यही सरकार की सोच है। उक्त मीटिंग की शुरुआत गुंडरदेही से शुरू किया गया है।

उक्त आयोजित मीटिंग में प्रमुख रूप से गुंडरदेही के पूर्व विधायक राजेन्द्र कुमार राय, जनता कांग्रेस के जिलाध्यक्ष केके राजू चंद्राकर, सोहन चंद्राकर, अश्वनी सिन्हा, पुरेंद्र, धनेस साहू, कांति भूसन साहू, सद्दाम, अमर भुआर्य, ललित साहू, प्रताप कटेल, राजकापुर के साथ-साथ 150 से अधिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।