Home राज्य छत्तीसगढ़ विधानसभा में बजट सत्र की शुरुआत…राज्यपाल ने अभिभाषण में इन बातों पर...

विधानसभा में बजट सत्र की शुरुआत…राज्यपाल ने अभिभाषण में इन बातों पर दिया जोर

6
राज्यपाल अभिभाषण

रायपुर। विधानसभा सत्र की शुरुआत आज हो गई है। सत्र की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से हुई है। सदन में राज्यपाल अनुसूइया उइके ने उद्बोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की कल्पना को साकार करने आप सभी काम कर रही है। कोरोना से निपटने मेरी सरकार को आप सबने सहयोग दिया।

राज्यपाल ने कहा कि बीता साल अनेक चुनौतियों से भरा हुआ था, सभी मोर्चों पर मेरी सरकार खरी उतरी है, सरकार ने सूझबूझ से काम किया है, प्रवासी श्रमिकों की सुरक्षित घर वापसी हुई, वहीं 11 से अधिक पंचायतों में चावल उपलब्ध कराया गया, अनेक प्रयासों के सकारात्मक परिणाम मिले, 3 लाख 62 हजार से अधिक हितग्राहियों और अनेक लोगों के लिए घर-घर जाकर रेडी टू इट दिया गया। सरकार की प्रतिबद्धता से बच्चों को कुपोषण से मुक्ति मिली है।

उन्होंने कहा कि महतारी जतन, बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ समेत कई योजनाओं को सुचारू रूप से लागू किया गया। किसानों से किया गया वादा निभाया गया। इस वर्ष 21 लाख 52 हजार 980 किसान पंजीकृत हुए थे, रिकॉर्ड धान खरीदी हुई। धान के खरीदी के हर पहलू पर नया कीर्तिमान स्थापित हुआ है। राज्यपाल ने कहा कि उपलब्धियों से किसानों के जीवन में कृषि उत्पादन और खुशहाली का दौर शुरु हुआ है। 725 नई समितियां पंजीकृत की गईं हैं। अब 2058 समितीयां हो गईं अब, सरकार की नवाचारी सोच को सम्मान मिला है।

किसान न्याय योजना से मदद मिली

राज्यपाल ने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना से काफी मदद मिली। पहले वर्ष 4500 करोड़ की राशि किसानों को दी गई, वन संसाधन बड़ा साधन है। तेंदूपत्ता पारिश्रमिक बढ़ाई गई है, इससे लाखों परिवार को फायदा हुआ है। छत्तीसगढ़ को 11 विशिष्ट पुरस्कारों से केंद्र सरकार हर राज्य को नवाजा है। प्रदेश को स्वच्छतम का पुरस्कार मिला है। गरीबों को बेहतर आवास देने लिये सरकार ने कई सार्थक काम किए हैं।