Home देश अनुच्छेद 370 हटाकर सरकार ने साबित किया कि वह कठोर निर्णय लेने...

अनुच्छेद 370 हटाकर सरकार ने साबित किया कि वह कठोर निर्णय लेने के लिए प्रतिबद्धः भागवत

6
भागवत

नागपुर। विजया दशमी के मौके पर मंगलवार को नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने शस्त्र पूजा की। स्वयंसेवकों ने पथ संचलन किया। इस दौरान भागवत ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाकर सरकार ने साबित किया कि वह कठोर निर्णय लेने के लिए प्रतिबद्ध है।

लिंचिंग को लेकर उन्होंने कहा कि यह शब्द पश्चिमी देशों से हमारे यहां आया और हम पर थोपा जा रहा है। इसे लेकर भारत को दुनिया में बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। संघ का नाम लिंचिंग की घटनाओं से जोड़ा गया, जबकि संघ के स्वयंसेवकों का ऐसी घटनाओं से कोई संबंध नहीं होता।

इस मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर एचसीएल के संस्थापक शिव नाडर, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मौजूद रहे। भागवत ने सवयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत का चुनाव दुनिया में सबके लिए रुचि का विषय है कि कैसे इतने बड़े चुनाव संपन्न कराए जा सकते हैं। लोग जानना चाहते थे कि 2014 में जो परिवर्तन आया था, वो क्या पिछली सरकार के लिए निगेटिव फॉलआउट था या फिर लोग खुद ही बदलाव चाहते थे।

प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ

उन्होंने कहा कि इस देश की जनता ने प्रत्यक्ष चुनाव के निर्णय लिए, इसके चलते वह परिपक्व हुई है। जनता ने 2014 की अपेक्षा इस बार सरकार को ज्यादा बहुमत दिया। यह भी साबित हुआ है कि सरकार अनुच्छेद 370 हटाने जैसा कठोर निर्णय लेने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार ने यह फैसला लोकसभा और राज्यसभा में आमचर्चा के माध्यम से किया। सभी दलों ने इसे जो समर्थन दिया, प्रधानमंत्री का यह कार्य अभिनंदनीय है।