Home राज्य छत्तीसगढ़ नारायणपुर में कर्फ्यू जैसे से हालात, 5000 जवान तैनात, पुलिस ने निकाला...

नारायणपुर में कर्फ्यू जैसे से हालात, 5000 जवान तैनात, पुलिस ने निकाला शांति मार्च

21
नारायणपुर में कर्फ्यू जैसे से हालात, 5000 जवान तैनात, पुलिस ने निकाला शांति मार्च

नारायणपुर। जिले में धर्मांतरण को लेकर तनाव बढ़ता ही जा रहा है। आदिवासियों के जिला मुख्यालय में चर्च में तोड़फोड़ के बाद से ही नारायणपुर में पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए हैं। इस दौरान पांच जिले की स्पेशल टास्क फोर्स के साथ बस्तर आईजी सुंदरराज पी. खुद ही मोर्चा संभाले हुए हैं। इस घटना के बाद आज नारायणपुर में कर्फ्यू जैसे हालात दिखाई दिए। हालात बिगड़े नहीं, इसलिए इलाके में 5000 जवान तैनात कर दिए गए हैं। ग्राम पंचायत एड़का में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती के बीच सड़कें सूनी रही।

जानकारी के अनुसार दशहत के कारण अधिकतर दुकानें दोपहर 12 बजे तक बंद थी। हालांकि एक-एक कर दुकानें खुलती रहीं। वहीं, नगर में शांति बहाल करने पुलिस ने शांति मार्च निकाला। पुलिस ने यहां ऐसा दूसरी बार किया है। जिला मुख्यालय के प्रवेश द्वार पर पुलिस बल तैनात रहा। आने-जाने वाले प्रत्येक वाहन की सघन जांच की जाती रही। भाजपा जिलाध्यक्ष व सर्व आदिवासी समाज के संरक्षक रुपसाय सलाम को पुलिस ने मंगलवार को न्यायालय के सामने प्रस्तुत किया।

बीजेपी ने जांच समिति का गठन किया

नारायणपुर में हुई घटना की जांच के लिए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव की ओर से जांच समिति का गठन किया गया है। यह कमेटी संबंधित स्थानों का दौरा कर घटना से संबंधित तथ्यों का अन्वेषण कर अपनी रिपोर्ट पार्टी को सौंपेगी। इस कमेटी में पूर्व मंत्री पूर्व मंत्री व विधायक ननकीराम कंवर, प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा व विधायक शिवरतन शर्मा, सांसद कांकेर मोहन मंडावी, सांसद राजनांदगांव संतोष पांडेय, प्रदेश महामंत्री व पूर्व मंत्री केदार कश्यप, पूर्व मंत्री महेश गागड़ा शामिल हैं।