Home लाइफ स्टाइल धर्म अध्यात्म चंद्रग्रहण के सूतक के कारण 12 घंटे बंद रहेंगे चारधाम के कपाट

चंद्रग्रहण के सूतक के कारण 12 घंटे बंद रहेंगे चारधाम के कपाट

24
चंद्रग्रहण

हरिद्वार। चंद्रग्रहण के सूतक के चलते चारों धाम समेत देवभूमि उत्तराखंड के सभी मंदिरों के कपाट मंगलवार शाम 4.25 बजे बंद कर दिए जाएंगे। बुधवार सुबह 4.40 बजे मंदिरों के शुद्धिकरण के बाद ही भगवान के दर्शन कर सकेंगे। हरिद्वार में गंगा आरती दोपहर बाद तीन बजे और गंगोत्री धाम में शाम 3.45 बजे की जाएगी।

चंद्र ग्रहण 16 और 17 जुलाई की मध्य रात 1.32 मिनट से शुरू होकर सुबह 4.30 मिनट तक रहेगा। गुरु पूर्णिमा को होने वाले पूजन भी शाम चार बजे के पहले ही कर लिए जाएंगे। 149 साल बाद गुरु पूर्णिमा और चंद्रग्रहण का यह विशेष संयोग बन रहा है।

17 जुलाई से ही सावन माह शुरू हो जाएगा। यह इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण है। ज्योतिष के जानकारों के अनुसार चंद्र ग्रहण के समय राहु और शनि चंद्रमा के साथ धनु राशि में होंगे। इससे ग्रहण का प्रभाव और बढ़ेगा। आइये जानते हैं ज्‍योतिष के अनुसार राशियों पर इसका क्‍या प्रभाव पड़ेगा।

कब होता है चंद्र ग्रहण

जब चंद्रमा, पृथ्वी और सूर्य एक ही लाइन में आ जाते हैं, तब चंद्र पर पृथ्वी की छाया पड़ती है और चंद्र दिखाई नहीं देता है। इसे ही चंद्र ग्रहण कहा जाता है।

सावन माह कब तक है: सावन माह शिवजी का प्रिय माह माना गया है। इस साल ये माह 15 अगस्त तक रहेगा। इसी दिन रक्षा बंधन का पर्व मनाया जाएगा। इस माह में शिवजी का अभिषेक करने का विशेष महत्व है।