Home राज्य छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ः सदन में रेत खनन की प्रक्रिया को लेकर विपक्ष वॉकआउट

छत्तीसगढ़ः सदन में रेत खनन की प्रक्रिया को लेकर विपक्ष वॉकआउट

10
रेत खनन

रायपुर। सदन में रेत के अवैध खनन का मामला विपक्ष ने जोर-शोर से उठाया. भाजपा ने अवैध खनन पर सरकार के जवाब पर आपत्ति जताते हुए सदन से वॉक आउट किया। इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बृजमोहन अग्रवाल पर चुटीली टिप्पणी करते हुए उन्हें रणछोड़दास तक कह दिया।

सदन में वापस लौटने के बाद रेत खनन मामले में बीजेपी सदस्यों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एक बार इस विषय मे बीजेपी ने वॉकआउट कर दिया था, अब इस पर चर्चा में शामिल नहीं हो सकते। बीजेपी राज में बेहिसाब रेत खनन हुआ, नदियों को नंगा कर दिया।

अब रेत खनन को लेकर पॉलिसी बनाई गई है, माइनिंग प्लान बनाया गया है। कोई भी हो अवैध खनन वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा। नियमों का पूरा पालन किया जाएगा, ये मैं आश्वस्त करता हूं।

जेसीसी विधायक अजीत जोगी ने कहा कि जिस वाहन से रेत का परिवहन किया जाए, वो वाहन भी जब्त होगा, जैसे फारेस्ट में होता है। इसे नियम में शामिल किया जाए। इसके पहले जेसीसी विधायक धर्मजीत सिंह ने ध्यानाकर्षण के जरिये उठाते हुए सरकार की प्रक्रिया से गैंगवार की आशंका जताई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि नियमानुसार रेत का खनन कार्य कराया जा रहा है। रेत के ठेके से सरकार को 250 करोड़ का राजस्व प्राप्त होगा।