Home राज्य छत्तीसगढ़ सीएम भूपेश शामिल हुए गुण्डरदेही में आयोजित घासीदास जयंती समारोह में, गौरेयाधाम...

सीएम भूपेश शामिल हुए गुण्डरदेही में आयोजित घासीदास जयंती समारोह में, गौरेयाधाम के लिए दो लाख रूपये स्वीकृत

152

रवि भूतड़ा
बालोद।
प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिले के तहसील मुख्यालय गुण्डरदेही में आयोजित गुरू घासीदास जयंती समारोह में शामिल हुए। उन्होंने बाबा गुरू घासीदास के चित्र पर पुष्प अर्पित कर पूजा अर्चना की और प्रदेश के लोगों की सुख समृद्धि के लिए कामना की। मुख्यमंत्री ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा संत शिरोमणी गुरू घासीदास ने देश और दुनिया को मानवता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि गुरू घासीदास ने जाति विहीन समाज की कल्पना की। सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने का संदेश दिया।

गुरू घासीदास जयंती की बधाई और शुभकामनाएं दी

उनके विचार आज भी प्रासंगिक और प्रेरणादायक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा गुरू घासीदास की जयंती 18 दिसम्बर को गुरू पर्व के रूप में मनाया जाता है और यह पर्व एक पखवाड़ा तक चल रहा है। उन्होंने जिलेवासियों को गुरू घासीदास जयंती की बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सतनामी समाज इस पर्व को प्रत्येक वर्ष हर्षोल्लस के साथ मना रहा हैं। गुरू घासीदास जयंती पर अन्य समाज के लोगों को आमंत्रित करके सम्मानित करता है, सतनामी समाज इसके लिए बधाई के पात्र है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा गुरू घासीदास के बताए मार्ग पर चलकर छत्तीसगढ़ को और अधिक विकसित राज्य बनाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने किसानो की कर्जमाफी और 2500 रूपये प्रति क्विंटल धान खरीदी का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इसका लाभ किसानों को मिल रहा है। फैसलों पर अमल के लिए पर्याप्त बजट प्रावधान भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने विधायक कुंवरसिंह निषाद की मांग पर प्रसिद्ध गौरेयाधाम के लिए दो लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की।

गुण्डरदेही विधायक कुंवरसिंह निषाद ने स्वागत भाषण दिया

समारोह को प्रदेश के नगरीय प्रशासन विकास एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया और महिला बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया ने भी सम्बोधित कर गुरू घासीदास जयंती की बधाई दी। गुण्डरदेही विधायक कुंवरसिंह निषाद ने स्वागत भाषण दिया। इस अवसर पर बालोद विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक भैय्याराम सिन्हा, जनप्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक सहित दुर्ग संभाग के कमिश्नर दिलीप वासनिकर, कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी और बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।