Home देश देश में बीमारी और आबादी के आधार पर मिलेगी कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य...

देश में बीमारी और आबादी के आधार पर मिलेगी कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय ने तय किए टीकों के दाम

7
कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की तरफ से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आबादी, कोरोना मरीजों के बोझ और टीकाकरण की प्रगति के आधार पर वैक्सीन की डोज आवंटित की जाएगी। सरकार ने 21 जून से लागू होने वाले राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण कार्यक्रम के लिए संशोधित दिशानिर्देश जारी किए हैं। इसमें राज्यों से वैक्सीन की बर्बादी रोकने के लिए भी कहा गया है। जो राज्य ज्यादा डोज बर्बाद करेंगे, उसी अनुपात में उनके आवंटन में कटौती कर दी जाएगी।

केंद्र सरकार देश में वैक्सीन उत्पादन करने वाली कंपनियों से 75 फीसदी डोज खरीदेगी और उसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को देगी। टीका लगाने की जिम्मेदारी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की होगी। आरबीआई द्वारा मंजूर इस वाउचर के जरिये कोई भी व्यक्ति टीकाकरण में गरीबों की मदद कर सकता है। राज्य निजी अस्पतालों पर निगरानी रखेंगे, जिससे कि वैक्सीन का सही इस्तेमाल हो सके।

सबसे महंगी होगी कोवैक्सीन

पीएम मोदी की वैक्सीन को लेकर घोषणा के बाद निजी अस्पतालों के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अलग-अलग वैक्सीन के लिए अधिकतम दाम निर्धारित किए हैं। वैक्सीन निर्माताओं द्वारा वर्तमान में घोषित कीमतों के आधार पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों के लिए वैक्सिन के दाम तय किए हैं। इस आधार पर कोविशील्ड वैक्सीन का दाम 780 रुपए प्रति डोज होगा।

वहीं स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन का दाम 1410 रुपए प्रति डोज होगा। वहीं रुसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी का दाम प्राइवेट अस्पतालों के लिए 1145 प्रति डोज होगा। इसमें 5 फीसदी जीएसटी के साथ- साथ 150 रुपये प्रति डोज सर्विस चार्ज भी शामिल है। निजी अस्पताल इससे ज्यादा कीमत नहीं वसूल सकते हैं।