Home क्राइम Corruption: बालोद जिले में महावृक्षारोपण फेल, देखरेख के अभाव में ठूठ में...

Corruption: बालोद जिले में महावृक्षारोपण फेल, देखरेख के अभाव में ठूठ में बदले पौधे, पौधरोपण के नाम पर लाखों रुपयों का भ्रष्टाचार

62
भ्रष्टाचार

बालोद। ज़िले में हर साल लाखों रुपये खर्च कर महावृक्षारोपण अभियान अंतर्गत हजारों की संख्या में पौधे लगाए जाते है। लेकिन सिर्फ अभियान के तहत ही रोपित पौधों की सुध ली जाती है। बाकी दिनों में देखरेख के अभाव में पौधे ठूठ में तब्दील हो रहे हैं। जिसके चलते महावृक्षारोपण अभियान बालोद जिले में पूरी तरह से फेल हो चुका हैं।

जिले अब सिर्फ नाममात्र के ही पेड़ नज़र आने लगे हैं। महा वृक्षारोपण अभियान चला पौधरोपण में लाखों रुपयों का फर्जीवाड़ा किया गया हैं। ऐसा ही एक मामला गुंडरदेही ब्लॉक के ग्राम पैरी से सामने आया हैं। जहां वन मंडल बालोद वर्ष 2016-17 में 2750 नग मिश्रित प्रजाति के पौधों का रोपण किया था। जो कि अब सारे ठूठ में तब्दील हो चुके हैं।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत वर्ष 2016-17 में महा वृक्षारोपण के तहत खसरा नम्बर-221 और रकबा 2.50 हेक्टेयर में 7 लाख 30 हजार की लागत से 2750 नग मिश्रित प्रजाति के पौधों का रोपण किया गया था। जिसकी कार्य एजेंसी वन मंडल बालोद थी। देखरेख के अभाव में रोपित किये गए पौधे अब ठूठ में तब्दील हो चुके हैं।

रोपित पौधों का कही नामो निशान तक नही हैं। यहां यह कहना गलत नही होगा कि उक्त महावृक्षारोपण में सम्बंधित एजेंसी द्वारा लाखो रुपयों का भ्रष्टाचार किया गया हैं। जो जांच का विषय हैं। बता दे कि वन मंडल बालोद द्वारा बालोद परिक्षेत्र अंतर्गत पौधरोपण को लेकर लाखों रुपयों का व्यारा न्यारा करने की बाते भी सामने आ रही हैं।