Home खेल क्रिकेट बलिदान बैज वाले ग्लव्स पहनकर मैच नहीं खेल पाएंगे धोनी..जानिए वजह

बलिदान बैज वाले ग्लव्स पहनकर मैच नहीं खेल पाएंगे धोनी..जानिए वजह

14
बलिदान बैज

नई दिल्ली। आईसीसी ने महेंद्र सिंह धोनी को वर्ल्ड कप के मुकाबलों में बलिदान बैज लगे हुए ग्लव्स पहनकर खेलने की इजाजत नहीं दी। आईसीसी ने कहा कि नियमों के मुताबिक, खिलाड़ी के कपड़ों या उनके खेल के सामनों पर कोई भी व्यक्तिगत संदेश या लोगो लगाने की इजाजत नहीं है। इसमें विकेटकीपर के ग्लव्स भी शामिल हैं। इन पर भी यही शर्तें लागू होती हैं।

बुधवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में धोनी जो ग्लव्स पहनकर विकेटकीपिंग करने उतरे थे, उस पर ‘बलिदान बैज’ का लोगो लगा था। गुरुवार को इंटननेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने इस पर आपत्ति जताई थी। उसने बीसीसीआई से धोनी के विकेटकीपिंग ग्लव्स से ‘बलिदान बैज’ या पैरा स्पेशल फोर्स के रेजिमेंटल निशान को हटाने के लिए कहा था।

बीसीसीआई ने कहा था- धोनी ने कोई नियम नहीं तोड़ा

शुक्रवार को बीसीसीआई ने आईसीसी को पत्र लिखकर धोनी को बलिदान बैज लगे ग्लव्स पहनकर विकेटकीपिंग करने की इजाजत देने की मांग की। प्रशासकों की समिति (सीओए) के चेयरमैन विनोद राय ने बताया कि हमने आईसीसी को इस मामले में मंजूरी देने की मांग की है। सभी जानते हैं कि बैज से किसी तरह का कर्मिशयल या धार्मिक पहलू नहीं जुड़ा है। इस कारण धोनी ने कोई नियम नहीं तोड़ा है।

धोनी के सैनिकों को समर्थन करने से पाकिस्तान को समस्या

इस मामले में बीसीसीआई के अलावा धोनी को सेना और सरकार का भी साथ मिला। लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) विनोद भाटिया ने कहा, धोनी को पूर्व-डीजीएमओ की मौजूदगी में प्रादेशिक सेना की पैराशूट रेजीमेंट में कमीशन किया गया था। धोनी के अपने ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’ का लोगो लगाने के मामले को ज्यादा तूल दिया जा रहा है।

वह राजनीतिक, धार्मिक और कमर्शियल के उद्देश्य के लिए नहीं किया गया। कई खिलाड़ी हैं जो ऐसा करते हैं। धोनी सैनिकों का समर्थन कर रहे हैं। सेना के जवानों को यह देखकर अच्छा लगेगा कि उनके जैसा आदमी उनकी सराहना कर रहा है। एजेंसी