Home राज्य छत्तीसगढ़ अमृतसर हादसे के बाद बैन डब्ल्यूआरएस मैदान पर इस बार भी दशहरा...

अमृतसर हादसे के बाद बैन डब्ल्यूआरएस मैदान पर इस बार भी दशहरा उत्सव

21
डब्ल्यूआरएस मैदान

रायपुर। दशहरा उत्सव के दौरान अमृतसर में पिछले साल हुए दर्दनाक हादसे के बाद रेलवे ने डब्लूआरएस मैदान पर दशहरा उत्सव के लिए लगाया गया प्रतिबंध सशर्त वापस ले लिया था। अमृतसर में पटरी पर बैठकर रावणदहन देख रहे लोगों को ट्रेन काटती हुई निकल गई थी।

हादसे में 50 मौतों के बाद रेलवे पूरे देश में ऐसे मैदान और स्थलों पर उत्सव प्रतिबंधित किए थे, जिनमें भीड़ लगती है और ट्रेनें भी गुजरती हैं। उसी कड़ी में रायपुर रेलवे ने भी डब्लूआरएस में दशहरा उत्सव पर कड़े प्रतिबंध लगाते हुए तत्कालीन दशहरा उत्सव समिति से भी सहमति ले ली थी। लेकिन इस बार समिति के नए पदाधिकारियों ने रेलवे से 8 अक्टूबर को इसी मैदान पर दशहरा उत्सव की सशर्त अनुमति दे दी है। राजधानी में डब्ल्यूआरएस का दशहरा मशहूर है। प्रदेश के कई शहरों से लोग डब्ल्यूआरएस मैदान में रावण दहन देखने आते रहे हैं।

तरुण दादा आयोजन करते थे, फिर मूणत, अब हम मनाएंगे

पश्चिम विधायक उपाध्याय ने डीआरएम से मिलकर कहा था कि डब्ल्यूआरएस में पूर्व मेयर व मंत्री तरुण चटर्जी दशहरा उत्सव का आयोजन करते थे। भाजपा की सरकार बनने के बाद तत्कालीन मंत्री राजेश मूणत ने टेकओवर करते हुए 15 साल यहीं उत्सव मनाया। इस साल हम यहीं दशहरा उत्सव मनाएंगे क्योंकि यह मैदान उनके विधानसभा क्षेत्र से लगा हुआ है। उपाध्याय ने कहा कि रेलवे प्रशासन से सुरक्षा मामलों पर बात हुई है। रावण दहन के वक्त ट्रेनों को दोनों ओर के स्टेशनों में रोकने की बात भी की जा सकती है।