Home राज्य छत्तीसगढ़ अंबिकापुर में हाथियों का उत्पात, ऐसी मचाई तबाही

अंबिकापुर में हाथियों का उत्पात, ऐसी मचाई तबाही

15
हाथियों को उत्पात

अंबिकापुर। सरगुजा जिले के मैनपाट और रायगढ़ जिले के कापू वन परिक्षेत्र के सीमावर्ती जंगल में पिछले आठ महीने से जमे हाथियों ने पहली बार मैनपाट के बरिमा स्थित आलू अनुसंधान केंद्र में प्रवेश कर जमकर उत्पात मचाया।

हाथियों ने परिसर में लगी आलू की फसल को भारी नुकसान पहुंचाया तथा पाइप को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथियों ने केंद्र से लगे वन विभाग के प्लांटेशन में प्रवेश कर सैकड़ों पौधों को उखाड़ फेंका।

दो ग्रामीणों का घर क्षतिग्रस्त करने के साथ हाथी पूरी रात आसपास स्वच्छंद विचरण करते रहे। जिससे लोग दहशत में रहे। वनकर्मियों द्वारा पूरी ताकत झोंकने के बावजूद ग्रामीण उनकी कार्यशैली को लेकर आरोप लगाते रहे, जिससे रात को ग्रामीणों व वन अधिकारी-कर्मचारियों के बीच विवाद की स्थिति बन गई।

हाथियों के अनुसंधान केंद्र के फलोद्यान क्षेत्र में नही पहुंचने से केंद्र के अधिकारी-कर्मचारियों ने राहत की सांस ली। गौतमी हाथी का दल आठ माह से मैनपाट व कापू वन परिक्षेत्र के सीमावर्ती जंगल में घूम रहा है। पूर्व में भी हाथी बरिमा में प्रवेश करते रहे हैं।