Home साइंस एंड टेक्नोलॉजी टुडे स्पेशल कृषि कानून का विरोध जारी एक दिसंबर को 1 बजे हो सकती...

कृषि कानून का विरोध जारी एक दिसंबर को 1 बजे हो सकती है अमित शाह के साथ किसान संगठनों की बैठक

22
अमित शाह

नई दिल्ली। दिल्ली से सटे हरियाणा के सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर इकट्ठा हुए हजारों की संख्या में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और यूपी से आए किसान डटे हुए हैं। वह यहां से टस से मस होने के लिए तैयार नहीं है। इस बीच खबर आ रही है कि 1 दिसंबर को 1 बजे क‍िसानों संगठनों की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक हो सकती है। इस बैठक के लिए किसान नेताओं ने अमित शाह, राजनाथ सिंह व कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से मुलाकात की थी। यह बैठक कहां पर होगी? यह अभी तय नहीं हुआ है।

वहीं, यह खबर भी आ रही है कि सिंघु बॉर्डर और टीकरी बॉर्डर पर किसान बैठे रहेंगे या हटेंगे? रविवार को इस पर फैसला हो सकता है। बताया जा रहा है कि किसान संगठनों के नेताओं की गोपनीय तरीके से बैठक चल रही है। इस बैठक का नतीजा दोपहर बाद तक आ सकता है।

वहीं, बुराड़ी मैदान में किसानों के प्रदर्शन करने के मुद्दे पर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि गाजियाबाद-दिल्ली सीमा पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने अपना विरोध जारी रहेगा। विरोध रामलीला मैदान में होता है, फिर हमें निजी सुविधा वाले निरंकारी भवन में क्यों जाना चाहिए? हम रविवार को दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर ही रहेंगे।

इस बीच किसान संगठनों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के उस प्रस्ताव भी ठुकरा दिया है, जिसमें उन्होंने बुराड़ी में मुहैया कराई गई जगह पर सभी किसानों के इकट्ठा होने के बाद बातचीत शुरू करने की बात कही थी।