Home राज्य छत्तीसगढ़ लाॅकडाउन के बाद पहली बार आज से रायपुर में कोचिंग सेंटर और...

लाॅकडाउन के बाद पहली बार आज से रायपुर में कोचिंग सेंटर और लाइब्रेरी खुलेंगे….नई गाइडलाइन जारी

14
रायपुर में कोचिंग सेंटर

रायपुर। लाॅकडाउन के बाद पहली बार रायपुर में अब कोचिंग सेंटर, लाइब्रेरी और स्किल डेवलपमेंट सेंटर शुरू किए जा सकेंगे। इन्हें अनलॉक करने का आदेश जारी कर दिया गया है। कलेक्टर भारतीदासन ने इसे लेकर गाइडलाइन जारी की है। इसमें कहा गया है कि क्षमता से 50 प्रतिशत स्टूडेंट्स ही एक समय पर बुलाए जा सकेंगे।

इसका मतलब ये कि जब पहले 100 स्टूडेंट्स की क्लास लगती थी तो अब कोविड के खतरे के मद्दे नजर 50 स्टूडेंट्स की एक वक्त में क्लास लगेगी। बाकि बचे बच्चों को दोबारा बुलाया जा सकेगा। जिला प्रशासन की गाइडलाइन में साफ कहा गया है कि किसी ने अगर नियमों को नहीं माना तो कोचिंग सेंटर, स्किल सेंटर या लायब्रेरी के प्रिंसिपल, संचालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।

राजधानी में सबसे बड़ी लाइब्रेरी नालंदा परिसर में सेंट्रल लाइब्रेरी है। वहां 3000 से ज्यादा छात्र सदस्य हैं, जो लाइब्रेरी बंद होने की वजह से वहां नहीं जा पा रहे थे। इसी तरह पं. दीनदयाल उपाध्याय लाइब्रेरी डीडी नगर, बीटीआई मैदान शंकरनगर, जिला ग्रंथालय फायर ब्रिगेड चैक, कंकाली तालाब के पास स्थित आनंद समाज वाचनालय की लाइब्रेरी में भी हर दिन 2000 से ज्यादा छात्र आना-जाना करते थे। यह सभी लाइब्रेरी बंद थीं, जो आज से खुल जाएंगी।

इन बातों का रखना होगा ध्यान

आदेश में कहा गया है कि ऑनलाइन या डिस्टेंस लर्निंग को सेंटर्स प्राथमिकता दें। संस्था के एंट्री गेट टच फ्री होने चाहिए, लोग खांसते- छींकते समय मास्क पहने, रुमाल या टिशू का इस्तेमाल करें, पीने के पानी की जगह, धोने का स्थल, वॉशरूम कुर्सी, टेबल, बेंच, कंप्यूटर, लैपटॉप, प्रिंटर, क्लासरूम की ऐसी जगह जहां लोग छूते हों वो बार-बार सैनिटाइज होते रहने चाहिए।