Home राज्य छत्तीसगढ़ अमेरिका की घटना के बाद छत्तीसगढ़ में वन विभाग अलर्ट, अब टाइगर...

अमेरिका की घटना के बाद छत्तीसगढ़ में वन विभाग अलर्ट, अब टाइगर रिजर्व और अभयारण्य के सॉसर होंगे सैनिटाइज

44
टाइगर रिजर्व

रायपुर। अमेरिका में बाघिन के कोरोना से मौत के बाद से प्रदेश में वन विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए हैं। वन्यजीवों को कोरोना से बचाने के लिए राज्य भर के अभयारण्य, टाइगर रिजर्व क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सॉसर (वाटर होल्ड) को सैनिटाइज किया जाएगा।

मुख्यालय से इसका आदेश जारी हो गया है। एक सप्ताह के भीतर युद्ध स्तर पर काम शुरू हो जाएगा। वन विभाग ने टाइगर रिजर्व और अभयारण्यों में वन्य जीवों तक आम आदमी की पहुंच पर पाबंदी लगा दी है।

ज्ञात हो कि कोरोना से इंसान तो परेशान हैं, लेकिन मूक जीव-जंतु भी संक्रमित हो रहे हैं। प्रदेश में चार टाइगर रिजर्व और आठ अभयारण्य हैं। इनमें कुल 70 सॉसर बनाए गए हैं। गर्मी में सॉसर सूख जाते हैं। वन विभाग गर्मी शुरू होते ही टैंकर के माध्यम से इनमें पानी भरवाता है, ताकि वन्यजीवों को दिक्कत न हो।

इस वर्ष बेमौसम बारिश की वजह से जंगल में पर्याप्त पानी था, लेकिन समय बीतने के साथ पानी के पारंपरिक स्रोत सूखने लगे हैं। इसे लेकर पीसीसीएफ ने सभी जिलों के वनमंडलाधिकारियों को टैंकर से पानी डलवाने की व्यवस्था कराने तथा सभी सॉसर को सैनिटाइज करने का आदेश जारी किया है। इसके साथ ही सॉसर में पानी भरने के लिए प्रयुक्त वाहन एवं स्टॉफ आदि को भी पूरी तरह से सैनिटाइज करने का आदेश दिया है।