Home खेल क्रिकेट पूर्व भारतीय गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन से फिक्सिंग मामले में की जाएगी पूछताछ

पूर्व भारतीय गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन से फिक्सिंग मामले में की जाएगी पूछताछ

6
अभिमन्यु मिथुन

बेंगलुरु। सेंट्रल क्राइम ब्रांच कर्नाटक प्रीमियर लीग के सट्टेबाजी और स्पॉट फिक्सिंग मामले में पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन से पूछताछ करेगी। मिथुन ऐसे पहले इंटरनेशनल खिलाड़ी बनेंगे जिनसे इस मामले में पूछताछ की जाएगी। मिथुन केपीएल में शिवामोगा लॉयंस टीम के कप्तान है।

संयुक्त कमिश्नर (क्राइम) संदीप पाटिल ने बताया कि हमने मिथुन से सीसीबी के सामने पूछताछ के लिए पेश होने को कहा है। चूंकि मिथुन ने टेस्ट और इंटरनेशनल वनडे में भारत का प्रतिनिधित्व किया है इसके चलते हमने इस मामले की बीसीसीआई को भी पूरी जानकारी दी है। हम मिथुन से कर्नाटक प्रीमियर लीग के पिछले सत्र से जुड़े कुछ सवाल पूछेंगे।

मिथुन ने 4 टेस्ट और 5 वनडे में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। वे इस समय सूरत में सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट में खेल रहे हैं। सीसीबी ने केपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में अभी तक 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें बेलागावी पैंथर्स के मालिक अली असफाक थारा शामिल हैं। कर्नाटक हाईकोर्ट ने बुधवार को इस मामले में अली असफाक की जमानत याचिका रद्द कर दी।

केपीएल में अभिमन्यु मिथुन ने पहले मालनाड ग्लैडिएटर्स का प्रतिनिधित्व किया। वे इसके बाद बिजापुर बिल्स की तरफ से खेले और पिछले सत्र में शिवामोगा लॉयंस टीम से जुड़े थे। सीसीबी ने पिछले सप्ताह कर्नाटक राज्य क्रिकेट एसोसिएशन और केपीएल टीमों को नोटिस जारी कर केपीएल मैचों से जुड़ी एक प्रश्नावली भेजी थी। सट्टेबाजों के प्रस्ताव को ठुकराने वाले कई खिलाड़ियों को हनी ट्रैप के जरिए उलझाया गया।

मिथुन का इंटरनेशनल करियर

मिथुन ने इंटरनेशनल डेब्यू 27 फरवरी 2010 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अहमदाबाद वनडे के जरिए किया था। उन्होंने अपना अंतिम इंटरनेशनल वनडे 11 दिसंबर 2011 को चेन्नई में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला। उन्होंने गॉल में 18 जुलाई 2010 को श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट पदार्पण किया और अपना अंतिम टेस्ट मैच जून-जुलाई 2011 में ब्रिजटाउन में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। उनका इंटरनेशनल क्रिकेट में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और वे 4 टेस्ट मैचों में 9 विकेट और 5 वनडे में 3 विकेट ले पाए।