Home क्राइम नक्सल विरोधी अभियान के तहत चैतू प्रभारी दरभा डीविजन का गनमैन गिरफ्तार

नक्सल विरोधी अभियान के तहत चैतू प्रभारी दरभा डीविजन का गनमैन गिरफ्तार

4
नक्सल विरोधी अभियान के तहत चैतू प्रभारी दरभा डीविजन का गनमैन गिरफ्तार

दंतेवाड़ा। नक्सल विरोधी अभियान के तहत मुखबिर की सूचना के आधार पर आज एसटीएफ पालनार, बारसूर एवं थाना कुआकोंडा पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा ग्राम रेवाली कलेपारा से माओवादी डी के एस जेड सी सदस्य श्याम उर्फ चैतू प्रभारी दरभा डीविजन का गनमैन एवं प्रेस टीम कमांडर चैनु उर्फ चुला पिता ध्रुवा बारसे उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम चिरमुर थाना गादीरास जिला सुकमा को घेराबन्दी कर गिरफ्तार करने में सफलता मिली है।

गिरफ्तार माओवादी वर्ष 2010 से प्रतिबंधित माओवादी संगठन में बाल संघम सदस्य के रूप में भर्ती हो कर सक्रिय कार्यकर्ता रहा है। इस दौरान वर्ष 2011 में माओवादियों से बुरगुम कर जंगलो में 303 रायफल, एके 47, इंसास, एसएलआर हथियार चलाने का प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

माओवादी डी के एस जेड सी सदस्य श्याम उर्फ चैतू प्रभारी दरभा डीविजन का गनमैन रहने के साथ ही संगठन के लिये पाम्पलेट, बैनर, पोस्टर लैपटॉप में तैयार कर प्रिंटआउट अन्य माओवादियों तक पहुँचने का कार्य करता था। इसके अतिरिक्त माओवादियों के आदेश पर कई बड़े घटनाओं में शामिल रहा है।

आरक्षक भीमा कुंजाम को जान से मारने की नियत

दिनांक 06.10.2017 को आरक्षक भीमा कुंजाम को जान से मारने की नियत से अपने अन्य साथियों जे साथ 9 एम एम पिस्टल से फायर किया गया जो मिस फायर होने से धारदार चाकू से हमला कर चोट पहुंचाने की घटना में शामिल रहा।

इसके अतिरिक्त 05.09.2018 को कुम्मा पोडियामी निवासी फूलपाड कोलियांनपारा व गांव के अन्य लोगों को रात्रि लगभग 3 बजे अपने साथियों के साथ मिलकर उन्हें घर से जबरजस्ती उठाकर किडरीरास के जंगल मे ले जाकर पुलिस मुखबिरी के शक में हाथ मुक्का बंदूक की बट से मारपीट करने की घटना में भी शामिल रहा था।

दिनांक 18.03.2017 को ग्राम बुरगुम डोरेपारा चिरमुल में हुई पुलिस नक्सली मुड़भेड़ में शामिल था। जिसमें 05 माओवादी मारे गये थे व 02 पुलिस के जवान घायल व 2 जवान शहीद हुए थे। इसके अतिरिक्त 30.10.2018 को निलवाया रोड में वीडियो कवरेज कर रहे डीडी न्यूज के कर्मियों व सुरक्षा दे रहे पुलिस कर्मियों पर निलवाया गांव के लगभग डेढ़ किमी पहले जंगल मे घात लगाकर अंधाधुंध फायरिंग करने की घटना में शामिल था।

इस घटना में 03 पुलिस जवान व 01 मीडिया कर्मी शहीद हुए थे। छत्तीसगढ़ पुलिस की इनाम पालिसी के तहत गिरफ्तार माओवादी चैनु उर्फ चुला पिता ध्रुवा बारसे के ऊपर 03 लाख रुपये का इनाम घोषित है।