Home क्राइम प्रदेश में लॉकडाउन के बीच इतने करोड़ की जीएसटी चोरी…पढ़िए पूरा मामला

प्रदेश में लॉकडाउन के बीच इतने करोड़ की जीएसटी चोरी…पढ़िए पूरा मामला

41
जीएसटी

रायपुर। कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच कई कारोबारियों ने फर्जी कंपनियां बनाकर उसमें 118 करोड़ रुपए से ज्यादा का बोगस बिल जारी कर दिया। विभाग के अफसरों ने घर से काम करने के बावजूद इस चोरी को पकड़ा है। वाणिज्यकर मंत्री टीएस सिंहदेव ने जीएसटी चोरी के इस खुलासे के बाद एक नोट जारी कर कहा कि लॉकडाउन के दौरान भी विभाग सतर्क था, इसलिए टैक्स चोरी का इतना बड़ा मामला पकड़ा जा सका है।

जीएसटी अफसरों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान बोगस कंपनियों ने 745.58 करोड़ रुपए की सर्कुलर ट्रेडिंग की, फर्जी बिक्री दिखाई और इसके जरिए 118.47 करोड़ रुपए का जीएसटी बचा लिया। विभाग के संयुक्त आयुक्त गोपाल वर्मा के नेतृत्व में प्रवर्तन शाखा ने यह कर चोरी पकड़ी है। उन्होंने बताया कि राज्य में आयरन एंड स्टील एवं प्लाईवुड के कारोबार से जुड़ी 58 फर्जी कंपनियों के जरिए यह टैक्स चोरी की गई।

इन फर्जी कंपनियों के जरिए कारोबारियों ने बोगस बिल से छत्तीसगढ़ के साथ ही मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली और ओडिशा समेत 14 राज्यों के कारोबारियों के साथ मिलकर 118.47 करोड़ रुपए का स्टॉक फर्जी तरीके से इधर से उधर कर दिया। यानी किसी कारोबारी के पास कोई स्टॉक न तो गया और न ही आया, लेकिन करोड़ों के बिल जनरेट हो गए।