Home राज्य छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ में प्राथमिक शिक्षा में उड़िया भाषा, याचिका पर सुनवाई आज

छत्तीसगढ़ में प्राथमिक शिक्षा में उड़िया भाषा, याचिका पर सुनवाई आज

9
उड़िया भाषा

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में प्राथमिक शिक्षा में उड़िया भाषा को शामिल करने की मांग को लेकर पेश जनहित याचिका में गुरुवार को हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। सेवानिवृत्त प्राचार्य प्रेमशंकर पंडा की ओर से दायर याचिका में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ के रायगढ़, महासमुंद, सरायपाली, सरंगगढ़ सहित अन्य क्षेत्रों में 10 लाख उड़िया भाषी निवास करते हैं।

संविधान में मातृभाषा में शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार दिया गया है। इसलिए छत्तीसगढ़ में भी प्राथमिक शिक्षा में उड़िया भाषा को शामिल किया जाए।

ऐसा है संवैधानिक प्रावधान
गौरतलब है कि संविधान के अनुच्छेद 350 ए में लोगों को अपनी मातृभाषा में शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार है। आबादी को देखते हुए प्राथमिक शिक्षा में उड़िया भाषा को भी शामिल किया जाना चाहिए।