Home राज्य छत्तीसगढ़ जशपुर में हाथियों ने ग्रामीण का घर तोड़ा, दो घंटे तक छिपा...

जशपुर में हाथियों ने ग्रामीण का घर तोड़ा, दो घंटे तक छिपा रहा परिवार

19
हाथियों

जशपुर/तुमला। शनिवार देर रात गौतमी दल के हाथियों ने एक घर को चारों ओर से घेर लिया। घर में रखे हुए धान, चावल को खाया, बिखेरा और मिट्टी से बने घर की कच्ची दीवारों को ध्वस्त कर, अंदर घुस गए। सात हाथियों के घर में प्रवेश कर जाने से पांच सदस्यी एक परिवार करीबन दो घंटे तक दुबका रहा। श्यामदेव का परिवार रात के इस मंजर को याद कर दिन के उजाले में भी सिहर उठते हैं।

यह मामला है जशपुर जिले के फरसाबहार तहसील के तुमला क्षेत्र के महुआडीह गांव का। यहां के श्यामदेव साय शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात अपने परिवार के साथ घर में गहरी नींद में सो रहे थे। इसी दौरान रात करीब एक बजे जंगल से निकल कर हाथियों का दल बस्ती में घुस आया।

श्यामदेव ने बताया कि दल में सात हाथी थे। हाथियों ने उसके घर को चारों ओर से घेर लिया। दीवार को तोड़ने लगे। दीवार में छेद करके सुंड को भीतर डालकर धान,चावल और डोरी की बोरियों को खाने लगे। हाथियों ने अनाज के बोरे को बाहर फेकना शुरू कर दिया । बाहर गिरे इन बोरियों के धान को दूसरे हाथी खा रहे थे।

घर के चारों ओर हाथियों के खड़े होने से श्यामदेव और उसके परिजनों को घर से बाहर निकलने का रास्ता ही नहीं दिख रहा था। जान बचाने के लिए पूरा परिवार पलंग के नीचे दुबके रहे। इस बीच हाथियों की चिंघाड़ और दीवार तोड़ने की आवाज सुनकर आसपास के ग्रामवासी भी घर से बाहर निकल आए।

मशाल जलाकर हाथी को खदेड़ा

बस्ती के एक छोर में स्थित श्यामदेव के घर को हाथियों से घिरा हुआ देखकर ग्रामीणों के होश उड़ गए। मुसीबत में फंसे हुए श्यामदेव के परिवार की जान बचाने के लिए ग्रामीणों ने आनन फानन में मशाल जलाकर हल्ला करना शुरू किया। लेकिन अनाज खा रहे हाथी घर से हटने के लिए तैयार नहीं थे। भारी मशक्कत के बाद हाथी एक ओर से हटकर जंगल की ओर गए।