Home देश झारखंड में भाजपा से अलग होकर लोजपा 50 सीटों पर अकेले लड़ेगी...

झारखंड में भाजपा से अलग होकर लोजपा 50 सीटों पर अकेले लड़ेगी चुनाव

8
लोजपा

रांची। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने झारखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा से अलग होकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। पार्टी 81 में से 50 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने बताया कि मंगलवार को प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की जाएगी। इससे पूर्व लोजपा ने भाजपा से संपर्क किया था और झारखंड विधानसभा चुनाव में गठबंधन के तहत चुनाव लड़ने की पेशकश की थी।

लोजपा ने भाजपा से संथाल परगना के जरमुंडी विधानसभा समेत 6 सीटों की मांग की थी, पर भाजपा की ओर से इन सीटों पर अपना प्रत्याशी उतार दिया गया। इसके बाद सोमवार को ही लोजपा ने यह मन बना लिया था कि वह अकेले चुनाव मैदान में आ सकती है। मंगलवार को चिराग पासवान ने इसकी अधिकारिक घोषणा भी कर दी।

लोजपा तीन विधानसभा चुनाव में एक भी सीट पर नहीं जीती थी

लोजपा ने 2005 में 38 सीटों पर चुनाव लड़ा, लेकिन एक भी प्रत्याशी नहीं जीत पाया। 2009 के चुनाव में लोजपा ने झारखंड में 10 सीट और 2014 में एनडीए गठबंधन के तहत एक सीट पर चुनाव लड़ा था। 2009 और 2014 में एक भी सीट पर लोजपा प्रत्याशियों को जीत हासिल नहीं हुई थी।

2014 विधानसभा चुनाव में भाजपा ने आजसू और लोजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। राज्य 81 सीटों में से 72 सीटों पर भाजपा, 8 पर आजसू और शिकारीपाड़ा सीट पर लोजपा ने उम्मीदवार उतारा था। हालांकि इस सीट पर लोजपा प्रत्याशी तीसरे नंबर पर रहा था।

जदयू भी एनडीए से अलग चुनाव लड़ रही

बिहार में भाजपा की सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जदयू झारखंड में अलग चुनाव लड़ रही है। पार्टी ने पहले चरण की 13 में से 8 सीटों पर अपने उम्मीदवार भी घोषित कर दिए हैं। नीतीश 2009 में भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ चुके हैं। 2014 के चुनाव के दौरान उनकी पार्टी यूपीए के साथ मिलकर चुनाव लड़ी थी।

हालांकि, एनडीए में वापसी के बाद नीतीश कई बार यह कह चुके हैं कि भाजपा से उनका गठबंधन सिर्फ बिहार में है। बाकी राज्यों में पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी।