Home राज्य छत्तीसगढ़ सक्ती शहर में डीएम चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा स्थापित श्री वृंदावन गौशाला बनी...

सक्ती शहर में डीएम चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा स्थापित श्री वृंदावन गौशाला बनी सेवा की मिशाल

15
सेवा की मिशाल

सक्ती. शहर के नंदेलीभाटा स्थित डीएम चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा स्थापित श्री वृंदावन गौशाला विगत 4 वर्षों से पूरे अंचल में गौ सेवा की एक मिशाल बनी हुई है, तथा इस गौशाला में ऐसी असहाय एवं आपातकालीन दुर्घटनाओं में गंभीर रूप से घायल गौ माताओं को रखकर उनकी निरंतर सेवा की जा रही है.

प्रत्येक वर्ष श्री वृंदावन गौशाला परिसर में आम जनों को तथा क्षेत्रवासियों को गौ सेवा के प्रति जागरूक करने एवं गौ सेवा का संदेश देने हेतु गोपाष्टमी के पावन पर्व पर वृहद रूप से गौ सेवा मेले का आयोजन किया जाता है, जिसके माध्यम से प्रतिवर्ष गोपाष्टमी पर्व पर हजारों की संख्या में लोग पहुंचकर गौ माता की सेवा करते हैं,तथा गौ सेवा को लेकर प्रेरणा ले रहे है.

उल्लेखित हो की शक्ति शहर के समाजसेवी एवं जन सेवा के कार्यों में सदैव अग्रणी रहने वाले डीएम परिवार द्वारा विगत करीब 4 वर्ष पूर्व डीएम चैरिटेबल ट्रस्ट के माध्यम से नंदेलीभाटा के पास अपनी स्वयं की भूमि पर श्री वृंदावन गौशाला की स्थापना की गई तथा स्थापना के बाद से ही निरंतर इस गौशाला में दुधारू गायों के स्थान पर असहाय गाय, जिनका किसी भी प्रकार से इलाज नहीं हो पाता था तथा सड़क दुर्घटनाओं में ऐसी गाय जो कि किन्हीं वाहनों की ठोकर से गंभीर रूप से घायल हो जाती थी उन्हें स्वयं के साधनों से गौशाला परिसर में लाकर उनकी पूर्णता देखभाल- रखरखाव एवं उनको आवश्यकतानुसार चारा भी उपलब्ध करवाया जाता है.

श्री वृंदावन गौशाला परिसर की देखरेख में डीएम परिवार शक्ति के लखनलाल अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, मुकेश अग्रवाल, उमेश अग्रवाल, चमन अग्रवाल, छोटू अग्रवाल, सहित परिवार की महिलाएं भी समय-समय पर गौशाला परिसर में पहुंचकर सेवा के कार्यो में जुटी रहती हैं तथा श्री वृंदावन गौशाला परिसर को देखकर ऐसा लगता है कि डीएम परिवार द्वारा एक बृहद सेवा प्रकल्प के रूप में इस गौशाला के कार्य को आगे बढ़ाते हुए लोगों को एक प्रेरणा दी जा रही है.

इस गौशाला में दुधारू गाय इक्का-दुक्का ही देखने को मिलती है,तथा शत-प्रतिशत गौ माताये घायल तथा असहाय ही यहां रह रही हैं,वहीं दूसरी ओर श्री वृंदावन गौशाला परिसर को पूर्णता व्यवस्थित एवं साफ सुथरा रखते हुए यहां गायों के लिए एक व्यवस्थित सैड का निर्माण किया गया है तथा अच्छा चारा एवं पानी तथा खुले मैदान में यह गौ माताये घूमती-फिरती रहती हैं.

ज्ञात हो कि शक्ति अंचल में वर्षों से एक व्यवस्थित गौशाला की कमी क्षेत्रवासी महसूस कर रहे थे तथा डीएम चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा स्थापित इस गौशाला के बनने से लोगों में गौ सेवा के प्रति भावना और अधिक जागृत हुई है तथा विगत वर्षों में शक्ति अंचल की गौशाला को देखने हेतु छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के तत्कालीन अध्यक्ष विशेश्वर पटेल स्वयं पहुंचे थे तथा उन्होंने इस गौशाला के कार्य को देखते हुए डीएम चैरिटेबल ट्रस्ट परिवार की काफी सराहना भी की थी.

वहीं इस गौशाला परिसर में प्रदेश के प्रसिद्ध साधु- संत,महात्मा, भागवत कथा वाचक एवं निर्वाचित जनप्रतिनिधि भी समय-समय पर वहां की व्यवस्था देखने के लिए पहुंचते हैं, तथा सभी गौशाला की व्यवस्था को देखकर उसकी प्रशंसा करते नहीं थकते, तथा डीएम परिवार द्वारा गौशाला रूपी इस स्थाई प्रकल्प को इतने बेहतर ढंग से चलाया जा रहा है जिससे लोग प्रेरणा ले रहे हैं.