Home देश केरल में 28 तक मानसून पहुंचने की उम्मीद, अंडमान-निकोबार में आज दक्षिणी-पश्चिमी...

केरल में 28 तक मानसून पहुंचने की उम्मीद, अंडमान-निकोबार में आज दक्षिणी-पश्चिमी मानसून दस्तक देगा

69
केरल में मानसून

नई दिल्ली। गुजरात और महाराष्ट्र समेत पश्चिम तटीय राज्य अभी ताऊ ते तूफान से हुए नुकसान का आकलन ही कर रहे हैं। इस अतिभीषण तूफान से नुकसान बेशक बहुत हुआ है, मगर इसका एकमात्र फायदा भी हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक इसकी वजह से मानसून तय तिथि से तीन दिन पहले, 28 मई को ही केरल पहुंच सकता है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक अरब सागर में उठा ये तूफान अपने साथ मानसूनी हवाओं को भी तय समय से पहले भारत तक खींच लाया है। इससे संभावना है कि अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में शुक्रवार को दक्षिणी-पश्चिमी मानसून दस्तक दे देगा।

मौसम विभाग के कैलेंडर के हिसाब से अंडमान में मानसून की आमद तय समय पर होगी। आम तौर पर यहां से सात से 12 दिन के भीतर मानसून केरल तट से टकराता है। ताऊ ते के असर से यह संभावना ज्यादा है कि मानसून सातवें दिन केरल पहुंच जाए। यानी 28 मई को। मौसम विभाग ने अंडमान-निकोबार में अगले तीन-चार दिन भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की है।

बंगाल की खाड़ी में तूफान उठना तय, ताऊ ते जैसा शक्तिशाली नहीं होगा

दूसरी ओर, उत्तरी अंडमान सागर और इसके आसपास के पूर्वमध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना है। इससे इधर-उधर छितरे बादल घने होने लगे हैं। यह 23 मई को तूफान में तब्दील हो सकता है। इसके 26 मई की सुबह ओडिशा व पश्चिम बंगाल के सामने पहुंचने की आशंका है। यह ताऊ ते तूफान जितना भीषण नहीं होगा लेकिन इसमें भी 100 किलोमीटर की गति से हवाएं चलेंगी। इस तूफान को ओमान का दिया गया नाम ‘यास’ मिलेगा। मौसम विभाग इस पर नजर रखे हुए है। हालांकि अभी सटीक दिशा व टकराने का स्थान पता लगने में 48 से 72 घंटे का समय लग सकता है।