Home अजब गजब मुजफ्फरपुर : SKMCH मेडिकल कॉलेज के पीछे मिले 100 मानव कंकाल, जले...

मुजफ्फरपुर : SKMCH मेडिकल कॉलेज के पीछे मिले 100 मानव कंकाल, जले हुए शव, हड़कंप

6
जले हुए शव, हड़कंप

मुजफ्फरपुर
बिहार के मुजफ्फरपुर में अक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम से बच्चों की मौत की तादाद बढ़ती जा रही है। इस बीच मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (SKMCH) के पीछे मानव कंकाल के अवशेष मिलने से हड़कंप मच गया है। अस्पताल के पिछले हिस्से में बने जंगल में एक बोरे में करीब 100 नर कंकाल के अवशेष मिले हैं। बता दें कि इन्सेफलाइटिस के चलते हुई मौतों से अस्पताल प्रशासन पहले ही सवालों के घेरे में है, दूसरी ओर बोरे में कंकाल मिलना झकझोर कर रख देने वाला है। इनका न ही दाह संस्कार किया गया और न ही इन्हें दफनाया गया।

SKMCH के एक जांच दल ने पुलिस के साथ मानव कंकाल मिलने वाली जगह का मुआयना किया। अस्पताल के पीछे मौजूद जंगल में एक या दो जले हुए शव मिले हैं। साथ ही 100 कंगालों के अवशेष भी जमीन पर पड़े हुए और बोरियों में भरे हुए मिले। डॉ. विपिन कुमार ने कहा, ‘कंकाल के अवशेष यहां मिले हैं। मामले की विस्तृत जानकारी प्रिसिंपल द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी।’ अस्पताल के केयरटेकर जनक पासवान ने बताया, ‘पोस्टमॉर्टम के बाद सभी शव अस्पताल के पीछे स्थित जंगल में फेंक दिए गए। मैंने कभी इन कंकालों के बारे में अथॉरिटी से पूछने की कोशिश नहीं की।’

72 घंटे तक पोस्टमॉर्टम रूम में रखना होता है शव

अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट डॉ. सुनील कुमार शाही ने कहा, ‘पोस्टमॉर्टम विभाग शवों की देख-रेख करता है। अगर खुले में कंकाल और शव मिले हैं तो यह वाकई अमानवीय है। हम विभागाध्यक्ष से इस पर जांच बिठाने के लिए कहेंगे।’ नियमानुसार, जब अस्पताल को कोई शव मिलता है, तो नजदीक के पुलिस स्टेशन से तुरंत संपर्क करना होता है और इस संबंध में एक रिपोर्ट फाइल करनी होती है। रिपोर्ट फाइल होने के बाद 72 घंटे बाद तक शव को पोस्टमॉर्टम रूम में ही रखना होता है।

पोस्टमॉर्टम विभाग के जिम्मे होता है दाह संस्कार
इस दौरान अगर परिवार का कोई सदस्य शव की पहचान के लिए नहीं आता है तो पोस्टमॉर्टम विभाग की ड्यूटी है कि इसका दाह संस्कार किया जाए या फिर दफनाया जाए। तस्वीरें जो सामने आ रही हैं, उसमें मानव कंकाल के साथ ही अस्पताल के पिछले हिस्से में कुछ कपड़े भी दिख रहे हैं।