Home राज्य छत्तीसगढ़ नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के गुमियापाल मुठभेड़ को बताया फर्जी

नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के गुमियापाल मुठभेड़ को बताया फर्जी

41

दिनेश गुप्ता, दंतेवाड़ा, 18 जुलाई। दरभा में आज नक्सलियों ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी 14 जुलाई को गुमियापाल में हुई मुठभेड़ को फर्जी बताया है। नक्सलियों ने दावा किया है कि मुठभेड़ में मारे गए दोनों नक्सली नहीं थे, न ही इनके पास हथियार थे। ये दोनों नक्सलियों के डाक्टर थे और उस दिन बीमार व्यक्ति का इलाज करने गए थे।


दरभा डिविजनल कमेटी ने द्वारा जारी इस विज्ञप्ति मंे नक्सलियों ने बताया कि ये लोग किरन्दुल क्षेत्र में लोगो की बीमारी का इलाज करने गये हुये थे। इस बीच किसी मुखबिर ने पुलिस को खबर कर दी। जिसकी सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दोनां निहत्तों पर गोलियां चला दी।
पर्चे में नक्सलियों ने लोगों को चेतावनी देते हुए कि वे पुलिस के मुखबिरी न करे। अन्यथा इसका परिणाम उन्हें भुगतना होगा।

गौरतलब है कि पुलिस ने गुमियापाल में 14 जुलाई को हुई मुठभेड़ में दो ईनामी नक्सली मंगली और एमला देवा को मार गिराने का दावा किया था। इनमें से एक महिला नक्सली थी।