Home राज्य छत्तीसगढ़ अब बिजली गुल तो आपको तुरंत मिलेगी सूचना…ऐसे काम करेगा सिस्टम

अब बिजली गुल तो आपको तुरंत मिलेगी सूचना…ऐसे काम करेगा सिस्टम

43
अब बिजली गुल तो आपको तुरंत मिलेगी सूचना…ऐसे काम करेगा सिस्टम

रायपुर। प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं के लिए अच्छी खबर है। जानकारी के अनुसार अब कहीं भी बिजली बंद होने पर अब लोगों के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर बिजली कंपनी से मैसेज आएगा। मैसेज में बताया जाएगा कि बिजली क्यों गुल हुई और कितनी देर में सुधरेगी। यह सुविधा मोर बिजली एप से भी लोगों को मिल जाएगी। दरअसल, कंपनी के पास अब तक ऐसा कोई सिस्टम नहीं था, जिसमें अचानक बिजली बंद की सूचना उपभोक्ताओं को दी जा सके। लोगों के पास भी विकल्प नहीं था। अभी यह व्यवस्था राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के 180 नगरीय क्षेत्रों में शुरू की गई है।

जानकारी के अनुसार मोबाइल पर मैसेज आने से लोगों की शिकायत और समस्या दोनों दूर हो जाएगी। गर्मी और बारिश के दिनों में अक्सर बिजली गुल होती है। कभी लोड बढ़ने से ट्रांसफार्मर ब्लास्ट हो जाता है, तो कभी बिजली के तारों पर पेड़ों की डंगाल टूटकर गिरने से अंधेरा छा जाता है। बिजली गुल होने पर लोग परेशान होते हैं। इस दौरान लोग ये पता लगाने का प्रयास करते हैं कि अचानक लाइट क्यों बंद हो गई? कब तक आएगी? इसके लिए लोग बिजली दफ्तरों में फोन करते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं करना पड़ेगा।

दरअसल, बिजली विभाग ने लोगों की दिक्कत को दूर करने के लिए कंपनी ने एक एप तैयार किया है। इस एप के जरिए नई सूचना प्रणाली विकसित की है। छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के प्रबंध निदेशक मनोज खरे के अनुसार मौसम की गड़बड़ी या अन्य कारणों से ब्रेकडाउन होने पर मैदानी अमला सुधार कार्य में व्यस्त रहता है और उसके पास उपभोक्ताओं के फोन उठाने का समय नहीं होता। ऐसे में इस सिस्टम से अब उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी।

ऐसे काम करेगा पूरा सिस्टम

कंपनी के अफसरों ने बताया कि किसी जगह बिजली गुल होने पर इसकी सूचना मिलते ही टीम वहां पहुंचकर सबसे पहले वजह पता लगाती है। अब बिजली विभाग की टीम को जैसे ही कारण पता चलेगा वे ब्रेकडाउन की जानकारी एप में डाउनलोड करेंगे। उस एप के माध्यम से सभी रजिस्टर्ड उपभोक्ताों को तत्काल एसएमएस के जरिए जानकारी मिल जाएगी किस कारण से बिजली गुल हुई है। मैसेज में बिजली सुधार में लगने वाले संभावित समय की जानकारी भी होगी। यानी ये बताया जाएगा कि कितनी देर में बिजली आएगी। अफसरों के अनुसार इस एप के माध्यम से आधे घंटे से अधिक समय लगने वाले ब्रेकडाउन की ही सूचना उपभोक्ताओं को भेजी जाएगी।