Home राज्य छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ में अब अनुसूचित जाति को आबादी के आधार पर मिलेगा आरक्षण

छत्तीसगढ़ में अब अनुसूचित जाति को आबादी के आधार पर मिलेगा आरक्षण

13
आरक्षण

रायपुर। छत्तीसगढ़ की पहली महिला सांसद मिनीमाता की पुण्यतिथि पर रविवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अनुसूचित जाति की लंबे समय से चल रही मांग को पूरा करने की घोषणा कर दी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि अनुसूचित जाति वर्ग को उनकी आबादी के अनुपात में आरक्षण मिलेगा।

इसके अलावा बघेल ने सतनाम पंथ के प्रवर्तक बाबा गुरु घासीदास की जन्मस्थली और तपोभूमि गिरौदपुरी धाम को उसकी गरिमा के अनुरूप विकसित करने और मिनीमाता की स्मृति में 11 कन्या छात्रावासों के निर्माण को अगले बजट में स्वीकृति देने की घोषणा भी की है।

मिनीमाता की पुण्यतिथि का कार्यक्रम राजधानी के नया बस स्टैंड स्थित मिनीमाता उद्यान में रखा गया था, जहां मुख्यमंत्री ने मिनीमाता की प्रतिमा पर मार्ल्यापण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर गुरु घासीदास साहित्य एवं संस्कृति समिति के अध्यक्ष केपी खांडे ने मुख्यमंत्री को मांग पत्र देते हुए कहा कि अनुसूचित जाति को 12 फीसद आरक्षण दिया जा रहा है, जबकि जनगणना के अनुसार प्रदेश में इस वर्ग की आबादी 12.8 फीसद है।