Home राज्य उत्तरप्रदेश ऑपिनियन पोल: 275 सीटों के साथ NDA को फिर मिलेगी सत्ता, यूपीए...

ऑपिनियन पोल: 275 सीटों के साथ NDA को फिर मिलेगी सत्ता, यूपीए को मिलेंगी 147 सीटें

31
ऑपिनियन पोल: 275 सीटों के साथ NDA को फिर मिलेगी सत्ता, यूपीए को मिलेंगी 147 सीटें

नई दिल्ली 
देश में होने वाले आम चुनावों के बाद बीजेपी नीत एनडीए एक बार फिर से देश की गद्दी पर बैठेगा। चुनावों में एनडीए को इस बार 275 सीटें मिल सकती हैं, जबकि यूपीए के खाते में 147 सीटें आ सकती हैं। वहीं, अन्य दलों को 121 सीटें मिलने का अनुमान है। न्यूज चैनल इंडिया टीवी और CNX ऑपिनियन पोल में यह आंकड़े सामने आए हैं। 

ऑपिनियन पोल के अनुसार देश की 543 लोकसभा सीटों में से बीजेपी की झोली में 230 सीटें जा सकती हैं। वहीं कांग्रेस को 97 सीटें मिल सकती हैं। टीएमसी को 28, बीजेडी को 14, शिवसेना को 13, समाजवादी पार्टी को 15, बीएसपी को 14, आरजेडी को 8, जेडीयू को 9 और अन्य को 115 सीटों पर जीत मिल सकती है। अगर गठबंधन के हिसाब से आंकड़ों पर गौर फरमाएं तो एनडीए को 275, यूपीए को 147 और अन्य को 121 सीटें मिल सकती हैं। 

उत्तर प्रदेश

बात अगर देश के सबसे अधिक लोकसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश की करें तो यहां की 80 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 45, बीएसपी को 14, एसपी को 15 और कांग्रेस को 4 सीटें मिल सकती हैं। वहीं आरएलडी और अपना दल को एक-एक सीट मिल सकती है। यूपी में गठबंधन के हिसाब से देखें तो एनडीए को 46, महागठबंधन को 30 और कांग्रेस को 4 सीटें मिल सकती हैं। वहीं 42 सीटों वाले पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को 28 सीटें, जबकि बीजेपी को 13 सीटें मिलेंगी। कांग्रेस और लेफ्ट के खाते में एक-एक सीटें जाएंगी। 

बिहार

इसी तरह से बिहार की 40 लोकसभा सीटों के सर्वे में बीजेपी को 14, आरजेडी को 8, जेडीयू को 9, कांग्रेस को 3, एलजेपी को 3 और अन्य को भी 3 सीटें मिल सकती हैं। बिहार में गठबंधन के हिसाब से देखें तो एनडीए को 26 और यूपीए को 14 सीटें मिल सकती हैं। ऐसे ही झारखंड की 14 सीटों में से बीजेपी को 9, कांग्रेस को 3 और जेएमएम को 2 सीटें मिल सकती हैं। छत्तीसगढ़ की 11 सीटों में से बीजेपी को 03 और कांग्रेस को 08 सीटें मिल सकती हैं। 

राजधानी दिल्ली

राजधानी दिल्ली की सातों सीटें बीजेपी के खाते में जा सकती हैं। यहां कांग्रेस और आप को एक भी सीट नहीं मिलती दिख रही है। इसी तरह गोवा की दोनों लोकसभा सीटें भी बीजेपी को मिल सकती हैं। ओडिशा में बीजेपी को 6, बीजेडी को 14 और कांग्रेस को 1 सीट मिल सकती है। असम की 14 सीटों में से बीजेपी को 5, कांग्रेस को 5 और AIUDF को 2 सीटें मिल सकती हैं। अन्य के खाते में 2 सीटें जा सकती है। उत्तर पूर्व की 11 लोकसभा सीटों में बीजेपी को 4, कांग्रेस को 4, NPP को 1 और NDPP को भी 1 सीट मिल सकती हैं। 

महाराष्ट्र

ओपिनियन पोल के मुताबिक महाराष्ट्र में 48 में से बीजेपी को 21, शिवसेना को 13, कांग्रेस को 7 और एनसीपी को 6 सीटें मिल सकती हैं। वहीं 1 सीट अन्य के खाते में जा सकती है। महाराष्ट्र में गठबंधन के हिसाब से देखें तो एनडीए को 34 और यूपीए को 12 सीटें मिल सकती हैं। मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 21 और कांग्रेस को 8 सीटें मिल सकती हैं। वहीं गुजरात की 26 लोकसभा सीटों में 26 में से बीजेपी के खाते में 24 और कांग्रेस के खाते में 2 सीटें जा सकती हैं। 

राजस्थान

राजस्थान में 25 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 17 और कांग्रेस को 8 सीटें मिल सकती हैं। वहीं पंजाब की 13 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस को 9 और अकाली दल को 2 सीटें मिल सकती हैं। वहीं, बीजेपी और आम आदमी पार्टी के खाते में 1-1 सीट जा सकती है। हरियाणा में 10 में से बीजेपी को 9 और कांग्रेस को 1 सीट मिल सकती है। हिमाचल प्रदेश में 4 सीटों में से बीजेपी को 3 और कांग्रेस को 1 सीट मिल सकती है। वहीं उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 3 और कांग्रेस को 2 सीटें मिल सकती हैं। बात अगर जम्मू-कश्मीर में हुए सर्वे की करें तो यहां की 6 में से बीजेपी को 2, कांग्रेस को 1, नैशनल कॉन्फ्रेंस को 3 सीटें मिल सकती है। ओपिनियन पोल में पीडीपी को एक भी सीट नहीं मिली। 

तमिलनाडु

तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीटों में बीजेपी को 1, कांग्रेस को 5, एआईएडीएमके को 10, डीएमके को 16 सीटें मिल सकती हैं। वहीं, 7 सीटें अन्य के खाते में जा सकती हैं। कर्नाटक की 28 सीटों में से बीजेपी को 16, कांग्रेस को 10 और जेडीएस को 2 सीटें मिल सकती हैं। केरल की 20 लोकसभा सीटों में बीजेपी को 1, कांग्रेस को 8, लेफ्ट को 4 और अन्य को 7 सीटें मिल सकती हैं। आंध्र प्रदेश में 25 में से वाईएसआर को 8 और टीडीपी को 7 सीटें मिल सकती हैं। सर्वे में यहां बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिली है। तेलंगाना में 17 में से टीआरएस को 12, कांग्रेस को 4, AIMIM को 1 सीट मिल सकती हैं। यहां भी बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिलने की संभावना है।