Home राज्य छत्तीसगढ़ सियासी विवाद के बीच छत्तीसगढ़ में एक दिसंबर से शुरू होगी धान...

सियासी विवाद के बीच छत्तीसगढ़ में एक दिसंबर से शुरू होगी धान खरीदी

31
धान खरीदी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में धान खरीदी को लेकर सियासत गर्म है। इस बीच भूपेश सरकार एक दिसंबर से प्रदेश में धान खरीदी शुरू कर रही है। सरकार कोरोना संकट के बावजूद भी धान खरीदी में किसी भी तरह की कमी नहीं आने देना चाह रही है। दरअसल छत्तीसगढ़ राज्य की प्रमुख फसल धान हैं। इसलिए छत्तीसगढ़ राज्य को धान का कटोरा कहा जाता है। छत्तीसगढ़ धान खरीदने के लिए केन्द्र सरकार से डिमाण्ड के अनुसार बारदाना न मिलने के बाद भी अपने स्तर पर बारदाने की जुटाने की कवायद में जुटी है। सीएम भूपेश बघेल, धान खरीदी, कृषि विभाग

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सत्ता की बागडोर संभालते हुए राज्य के 17 लाख 82 हजार किसानों का लगभग 9 हजार करोड़ रूपए का कृषि ऋण माफ कर और 2500 रूपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू कर किसानों से किए अपने वायदे को पूरा किया था।

छत्तीसगढ़ सरकार ने खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में 2500 रूपए क्विंटल मूल्य पर राज्य के किसानों से 80.37 लाख मीट्रिक टन और खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर 83.94 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी का नया कीर्तिमान रचा था।