Home राज्य छत्तीसगढ़ दहशत फैलाने वाला आदमखोर तेंदुआ मनेंद्रगढ़ में पकड़ा गया, कई लोगों की...

दहशत फैलाने वाला आदमखोर तेंदुआ मनेंद्रगढ़ में पकड़ा गया, कई लोगों की ले चुका था जान

11
दहशत फैलाने वाला आदमखोर तेंदुआ मनेंद्रगढ़ में पकड़ा गया, कई लोगों की ले चुका था जान

मनेंद्रगढ़। मनेंद्रगढ़ वन मंडल के जनकपुर और कुंवारपुर परिक्षेत्र में दहशत फैलाने वाले आदमखोर तेंदुए को पकड़ लिया गया है। बता दें कि 15 जनवरी को उसके हमले से एक व्यक्ति की मौत के एक दिन बाद वन विभाग का सचिव स्तर से लेकर गार्ड स्तर तक की टीम उसकी खोज में लगी थी। जानकारी के अनुसार जनकपुर क्षेत्र के लोगों के लिए दहशत का पर्याय बना तेंदुआ ग्राम नौडिया में रखे पिजरे में फंस गया। वन अमले के साथ क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली। पिछले कई दिनों से तेंदुए को पकड़ने की कोशिश की जा रही थी।

वन विभाग की ओर से आदमखोर तेंदुए की लगातार निगरानी की जा रही थी। आदमखोर तेंदुए को पकड़ने पहले बकरी फिर मुर्गा और अब कुत्ते को चारा बनाया गया था। दरअसल, मनेंद्रगढ़ वन मंडल के जनकपुर और कुंवारपुर परिक्षेत्र में बीते एक महीने से तेंदुए का आतंक है. आदमखोर तेंदुआ अब तक तीन लोगों की जान ले चुका है। वहीं एक को गंभीर रूप से घायल कर चुका है।

इस मामले की गंभीरता को समझते हुए 15 जनवरी के दूसरे दूसरे दिन वाइल्ड लाइफ के पीसीसीएफ जनकपुर पहुंचे, सीसीएफ सरगुजा के साथ वन्य प्राणी के सीसीएफ, गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान के संचालक और मनेंद्रगढ़ वन मंडल के डीएफओ दो दिन से तेंदुए की खोज में जनकपुर में डेरा डाले हुए हैं। डॉ चंदन (कानन पेंडारी ) बिलासपुर ने बताया कि ष्इस क्षेत्र में लगातार 15 दिनों से सर्चिंग चल रही है। क्षेत्र में अभी जानकारी के अनुसार बेला गांद में तेंदुआ देखा गया है। अब वह हमारे पकड़ में है। यह राहत की खबर है।