Home बड़ी ख़बर हाथियों के आतंक से दहशत में ग्रामीण,कई एकड़ फसल का कर चुके...

हाथियों के आतंक से दहशत में ग्रामीण,कई एकड़ फसल का कर चुके नुकसान

164
हाथियों के आतंक से दहशत में ग्रामीण,कई एकड़ फसल का कर चुके नुकसान

मोहसिन खान
रायगढ़ : जुनवानी सर्किल में पिछले करीब दो सप्ताह से ग्यारह हाथियों का दल विचरण कर रहा है। रात होने के बाद हाथियों का दल जंगल से निकल कर गांव व खेतों तक पहुंच कर फसल को बर्बाद कर रहे हैं, लेकिन विडबंना है कि यहां रात के दौरान मुख्यालय में सर्किल प्रभारी रहते ही नहीं और बीटगार्ड के भरोसे पूरे सर्किल को छोड़ दिया जाता है। जबकि कई बार इसकी शिकायते हो चुकी है, लेकिन अधिकारी लापरवाह कर्मचारियों को बढ़ावा देते हुए कोई भी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं और लगातार यहां ग्रामीण हाथियों की मौजूदगी के कारण परेशान हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि बीती रात भी करीब ग्यारह हाथियों का दल गांव के करीब पहुंच गया और यहां किसानों के खेत में घुसने के बाद पूरी तरह से फसल को अपने पैरों तले रौंद कर बर्बाद कर दिया। उन्होंने बताया कि लगभग दो सप्ताह से हाथी यहां पहुंच रहे हैं और अब तक कई हेक्टेयर फसल को नुकसान कर चुके हैं, लेकिन हाथियों को रात में गांव के करीब आने से रोकने के लिए यहां बीटगार्ड के अलावा कोई नहीं होता है। ग्रामीणों ने बताया कि सर्किल प्रभारी विजय मिश्रा कभी भी यहां मुख्यालय में नहीं रहते हैं और जबकि यह काफी संवेदनशील सर्किल है।

यहां वन्यप्राणियों के साथ ही घने जंगल भी है और पूर्व के सर्किल प्रभारियों ने कई दफे अवैध लकड़ी तस्करी को भी पकड़ा है, लेकिन वर्तमान सर्किल प्रभारी के पदस्थ होने के बाद से वह अपने मुख्यालय में नहीं रहता है। ऐसे में यहां जंगल भगवान भरोसे हो चुका है। इसके बाद भी यहां अधिकारियों के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किया जा रहा है। फिलहाल हाथी से हुए बर्बाद फसल का मुआवजा देकर वन विभाग के अधिकारी अपने कत्र्तव्यों से इत्तीश्री कर रहे हैं। वहीं इस मामले में जब रेंजर आरसी यादव से बात करने के लिए उनके मोबाईल पर कॉल किया गया, तो उनके मोबाईल की घंटी बजते रही और उन्होंने कॉल रिसीव करना मुनासिब नहीं समझा।

रतजगा करने की मजबूरी

ग्रामीणों ने बताया कि हाथी का दल जब चिंघाड़ते हुए जंगल से बाहर आते हैं और गांव के करीब पहुंचते हैं। तब ग्रामीणों के बीच काफी दहशत का माहौल निर्मित हो जाता है। लोग किसी डिब्बे को बजाने या कई प्रकार का आवाज निकाल कर, घरों के बाहर आग जलाकर रतजगा करने को मजबूर हो जाते हैं। यही नहीं जब किसी बाड़ी में हाथी घुस जाता है तो घर क्षतिग्रस्त करने का भी डर उन्हें सताते रहता है।

रायगढ़ वन मंडल के एसडीओ एनआर खुंटे ने इस पूरे मामले में कहा हैं कि हाथी रात में जुनवानी पहुंच कर फसल नुकसान किए हैं। जानकारी मिलने पर हम रात के दौरान वहां गए थे। सर्किल प्रभारी विजय मिश्रा की काफी शिकायते है कि वह अपने मुख्यालय में नहीं रहता है। इस कारण पूर्व में उसका वेतन रोकने का भी संभवत: आदेश हुआ था। मामले में कार्रवाई की जाएगी।