Home क्राइम नाबालिग का अपहरण कर दमन दीव ले जाने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस...

नाबालिग का अपहरण कर दमन दीव ले जाने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे, युवती भी बरामद

13

सूरजपुर। जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर ग्राम सिरसी की 16 वर्षीय किशोरी के अपहरण संबंधी मामले में बसदेई पुलिस ने गुजरात और दमन दीव जाकर नाबालिग किशोरी को बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि ग्राम सिरसी निवासी 16 वर्षीय किशोरी का अपहरण 5 माह पूर्व 22 नवंबर 2018 में गांव के ही एक युवक के द्वारा कर लिया गया था।

उसकी तलाश पुलिस द्वारा की जा रही थी तभी साइबर सेल से सहयोग लेने के बाद पता चला कि आरोपी गुजरात राज्य से लगे दमन दीव केंद्र शासित प्रदेश में किराए का मकान लेकर अपहर्ता को साथ में रखा हुआ है। इसी सूचना और लोकेशन के आधार पर पुलिस अधीक्षक जीएस जयसवाल के निर्देशन में बसदेई पुलिस की टीम ने गुजरात और दमन दीव पहुंचकर अपहरणकर्ता युवक के घर में दबिश दी और आरोपी को गिरफ्तार करते हुए पीड़िता किशोरी को भी बरामद करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस को देख भागने लगा आरोपी युवक

इस संबंध में पुलिस ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार करने और किशोरी को सकुशल बरामद करने के उद्देश्य बसदेई पुलिस चौकी के सहायक उप निरीक्षक सुनील सिंह, मनोज पोर्ते, जितेंद्र पटेल, अमरेंद्र दुबे, देवदत्त दुबे, महेंद्र प्रताप सिंह एवं साइबर सेल के आरक्षक युवराज यादव की संयुक्त टीम ने पुरजोर कोशिश की और लोकेशन के आधार पर दमन पहुंची और जैसे ही टीम ने आरोपी युवक के किराए के मकान में दबिश दी वैसे ही पुलिस को देखकर आरोपी युवक नागेंद्र देवांगन भागने लगा। जिसे पुलिस ने दौडा कर गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपी युवक के विरुद्ध भादवि की धारा 363, 366, 376 और पास्को एक्ट की धारा 4-6 के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए आरोपी युवक को न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

आरोपी तक पहुंचने में खूब मशक्कत करनी पड़ी पुलिस को

नाबालिग किशोरी के अपहरण के बाद किसी तरह पुलिस ने यह तो पता कर लिया कि उसका अपहरण किसी और ने नहीं बल्कि गांव के ही नागेंद्र देवांगन पिता शंकर देवांगन के द्वारा किया गया है, तो उसकी पतासाजी के लिए उन्होंने साइबर सेल का सहयोग लिया। साइबर सेल से कॉल डिटेल लेकर लोकेशन पता किया गया और लोकेशन से वे दमन केंद्र शासित प्रदेश पहुंचे बड़ा शहर होने और फैक्ट्रियों की तादाद ज्यादा होने की वजह से ढूंढने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

पुलिस ने दमन पुलिस से भी सहयोग मांगा और नानी थाना पहुंचकर टावर लोकेशन के आधार पर ही उन्होंने जिस प्लास्टिक फैक्ट्री में वह युवक कार्य करता था वहां पहुंचे और साइबर सेल की मदद से वे उस युवक के किराए के मकान तक जा पहुंचे और पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपी युवक को गिरफ्तार किया और उसके कब्जे से अपहृत किशोरी को बरामद किया।