Home बड़ी ख़बर आरबीआई ने घटाई रिवर्स रेपो रेट, जानिए क्यों

आरबीआई ने घटाई रिवर्स रेपो रेट, जानिए क्यों

86
आरबीआई

नई दिल्ली। देश में इन दिनों कोरोना वायरस से जंग के लिए लॉकडाउन-2 जारी है और इस दौरान अर्थव्यवस्था को हो रहे नुकसान को रोकने की कोशिशें भी जारी है। केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था के लिए कुछ और कदम उठा सकती है। इसी कड़ी में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत उन्होंने महात्मा गांधी के कोट्स को दोहराते हुए कहा कि हमें अंधेरे के वक्त उजाले की तरफ देखना है, मौत के वक्त जिंदगी की तरफ देखना है।

आरबीआई गवर्नर ने एक और बड़ा ऐलान करते हुए रिवर्स रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट की कटौती का ऐलान किया है जो तत्काल लागू होगी। इसके बाद रिवर्स रेपो रेट 4 प्रतिशत से 3.75 प्रतिशत पर आ जाएगी। यह वो दर है जिस पर रिजर्व बैंक, बैंकों को लोन देता है। वहीं रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

गवर्नर ने रिजर्व बैंक की तरफ से उठाए जा रहे कदमों की जानकारी देते हुए कहा कि देश में कैश की कमी नहीं होने दी जाएगी। फाइनेंशल स्ट्रेस को कम करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। नबार्ड, सिडबी जैसे सेक्टर्स को 50 हजार करोड़ की मदद का ऐलान किया गया है।

शक्तिकांत दास ने कहा कि इन हालातों में भी आरबीआई और बैंक पूरी तरह से काम कर रहे हैं। दुनिया की अर्थव्यवस्था बुरे दौर में है और पूरी दुनिया में बड़ी मंदी का अनुमान जताया जा रहा है। कोरोना की वजह से दुनिया में 9 ट्रिलियन डॉल के नुकसान का आनुमान है। इस बीच भारत के हालात दुनिया के अन्य देशों से बेहतर है और देश के वित्तिय हालातों पर लगातार नजर रखी जा रही है।

मानसून अच्छा होने से अर्थव्यवस्था को सहारा मिलेगा

देश में 91 प्रतिशत एटीएम काम कर रहे हैं वहीं उद्योगों के मामले में ऑटो सेक्टर को नुकसान हुआ है वहीं निर्यात भी कम हुआ है। इस दौर में भारत की जीडीपी ग्रोथ 1.9 प्रतिशत रहने की आशंका जताई गई है। हालांकि, इस बार मानसून अच्छा रहने की उम्मीद है और ऐसे में अर्थव्यवस्था को सहारा मिलेगा।