Home देश आरटीआई से हुआ खुलासा, 2016 के पहले कहीं भी सर्जिकल स्ट्राइक नहीं

आरटीआई से हुआ खुलासा, 2016 के पहले कहीं भी सर्जिकल स्ट्राइक नहीं

20
आरटीआई

नई दिल्ली। कांग्रेस के मनमोहन सिंह सरकार के समय छह सर्जिकल स्ट्राइक के दावों के बीच आरटीआई से यह खुलासा हुआ है साल 2016 के पहले कहीं भी सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम नहीं दिया गया। आरटीआई के तहत मांगी गई जानकारी का जवाब रक्षा मंत्रालय की ओर से दिया गया है।

जम्मू के रहने वाले आरटीआई एक्टीविस्ट रोहित चौधरी ने आरटीआई के तहत रक्षा मंत्रालय से इस संबंध में जानकारी मांगी थी। मंत्रालय ने जवाब देते हुए बताया है कि अभी तक सिर्फ एक सर्जिकल स्ट्राइक हुई है।

आरटीआई में यह जानकारी मांगी गई थी कि सितंबर 2016 के पहले भी कोई सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी? इसके जवाब में रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इस तरह की किसी भी कार्रवाई का कोई भी पिछला रिकॉर्ड मंत्रालय में मौजूद नहीं है। आरटीआई के जवाब में यह भी कहा गया कि सितंबर 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक में किसी भी तरह की कोई भी क्षति नहीं हुई थी।

इससे पहले कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव शुक्ला ने दावा किया था कि मनमोहन सरकार के दौरान 6 बार पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की गई थी। उन्होंने कहा था कि पहली सर्जिकल स्ट्राइक 19 जून 2008 में जम्मू और कश्मीर में पूंछ के भट्टल सेक्टर में हुई थी।

दूसरी 30 अगस्त से लेकर 1 सितंबर 2011 तक नीलम घाटी के शारदा सेक्टर में की गई थी। तीसरी सर्जिकल स्ट्राइक 6 जनवरी 2013 को सावन पत्र चेकपोस्ट पर की गई थी। चौथी 27 और 28 जुलाई 2013 को नजरपुर सेक्टर में की गई थी। नीलम घाटी में 6 अगस्त 2013 को पांचवी सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था, जबकि छठी स्ट्राइक 14 जनवरी 2014 को को की गई थी।