Home राज्य छत्तीसगढ़ अमृतसर हादसे के बाद डब्ल्यूआरएस मैदान में सुरक्षा घेरा, तब हुआ 101...

अमृतसर हादसे के बाद डब्ल्यूआरएस मैदान में सुरक्षा घेरा, तब हुआ 101 फीट के रावण का दहन

8
रावण का दहन

रायपुर। अमृतसर हादसे सतर्क इस बार डब्ल्यूआरएस कॉलोनी मैदान के रेलवे ट्रैक की तरफ सुरक्षा घेरा बनाया। इसके बाद 01 फीट ऊंची रावण मूर्ति जोरदार धमाके के साथ जली। नीचे खड़े लोग जय श्री राम के नारे लगा रहे थे। मेघनाद और कुंभकर्ण के विशाल काय पुतले भी जलाए गए। बुराई पर अच्छाई का यह पर्व शहर में इसी अंदाज में पिछले 50 सालों से जारी है।

प्रदेशभर के सभी शहरों में मंगलवार की शाम इसी तरह धूम-धाम से रावण दहन किया गया। इस मौके पर राज्यपाल अनुसूइया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधायक कुलदीप जुनेजा, विकास उपाध्याय और महापौर प्रमोद दुबे समेत शहर के हजारों लोग मैदान में मौजूद थे। यहां अतिथियों के संबोधन के बाद रावण दहन का कार्यक्रम हुआ।

यहां 101 फीट का रावण और 85-85 फीट के कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले तैयार किए गए थे। इतने बड़े तीन पुतले बनाने के लिए 5 हजार मीटर कपड़ा और 1 टन कागज का इस्तेमाल किया गया। कपड़े और कागज के अलावा 5 हजार किलो बोरा, 100 किलो सूतली, 600 किलो नारियल जूट रस्सी और 1800 नग बांस भी पुतले बनाने में यूज की गई । पिछले 12 दिनों से 85 कारीगर रोज 10 से 12 घंटे की मेहनत से इन्हें तैयार कर रहे थे। सार्वजनिक दशहरा उत्सव समिति के सचिव राधेश्याम विभार ने कार्यक्रम में रामलीला का मंचन और कल्चरल परफॉर्मेंस भी की गई।