Home लाइफ स्टाइल धर्म अध्यात्म सावन का पहला सोमवार हैं आज भगवान शिव की पूजा करने का...

सावन का पहला सोमवार हैं आज भगवान शिव की पूजा करने का विशेष महत्व हैं

25
सावन का पहला सोमवार हैं आज भगवान शिव की पूजा करने का विशेष महत्व हैं

आज सावन का पहला सोमवार अर्थात वन सोमवार हैं। इस लिए आज भगवान शिव की पूजा करने का विशेष महत्व हैं। इस दिन लोग भगवान शिव की पूजा भक्ति में लीन रहते हैं। तथा इस दौरान भगवान शिव के साथ साथ अन्य देवी जदेवताओं की पूजा भी की जाती है। ऐसा माना जाता है कि आज के दिन भगवान सिव की पूजा से समस्त दोषों से मुक्ति मिलती है। आज के दिन चंद्र देव के दोष के प्रभाव को कम करने के लिए सोमवार को भगवान शिव के साथ चंद्र देव की पूजा की जाती है। जिससे चंद्र दोष का प्रभाव कम हो जाता है। इस लिए आज हम आपके लिए इस आर्टिकल में श्रावन के पहले सोमवार को चद्र दोष को कम करने के लिए चंद्र देव की आरती लेकर आए हैं।

चन्द्र देव की आरती –

ॐ जय श्रीचन्द्र यती,
स्वामी जय श्रीचन्द्र यती |
अजर अमर अविनाशी योगी योगपती |

सन्तन पथ प्रदर्शक भगतन सुखदाता,
अगम निगम प्रचारक कलिमहि भवत्राता |

कर्ण कुण्डल कर तुम्बा गलसेली साजे,
कंबलिया के साहिब चहुँ दीश के राजे |

अचल अडोल समाधि प्झासा सोहे
बालयती बनवासी देखत जग मोहे |

कटि कौपीन तन भस्मी जटा मुकुट धारी,
धर्म हत जग प्रगटे शंकर त्रिपुरारी |

बाल छबी अति सुन्दर निशदिन मुस्काते,
भ विशाल सुलोचन निजानन्दराते |

उदासीन आचार्य करूणा कर देवा,
प्रेम भगती वर दीजे और सन्तन सेवा |

मायातीत गुसाई तपसी निष्कामी,
पुरुशोत्तम परमात्म तुम हमारे स्वामी |

ऋषि मुनि ब्रह्मा ज्ञानी गुण गावत तेरे,
तुम शरणगत रक्षक तुम ठाकुर मेरे |

जो जन तुमको ध्यावे पावे परमगती,

श्रद्धानन्द को दीजे भगती बिमल मती |
अजर अमर अविनाशी योगी योगपती |

स्वामी जय श्रीचन्द्र यती